Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » 5 लाख की है ये छोटी सी गाय, दूध नहीं देती है अमृत, 1 लीटर की कीमत सुन ली तो चौंक जाएंगे!

5 लाख की है ये छोटी सी गाय, दूध नहीं देती है अमृत, 1 लीटर की कीमत सुन ली तो चौंक जाएंगे!

शुभम बोडके
सातारा: भारत में गो पालन लंबे समय से प्रमुख खेती पूरक व्यवसाय रहा है. दूध और डेयरी उत्पादों के साथ-साथ कृषि से जुड़े कार्यों के लिए भी गो पालन ग्रामीण जीवन का हिस्सा रहा है. बदलते समय के साथ अधिक दूध देने वाली जर्सी या अन्य विदेशी नस्ल की गायों का पालन-पोषण ज्यादा किया जाता है. हालांकि, देसी गायों का विशेष आकर्षण अब भी बना हुआ है. दुनिया में कद में सबसे छोटी देसी पुंगनूर गाय हर किसी को आकर्षित करती है. सातारा जिले के कराड की कृषि प्रदर्शनी में इस गाय को देखने के लिए भारी भीड़ जुटी है.

महाराष्ट्र सहित देश भर में गायों की विभिन्न नस्लें पाई जाती हैं. पुंगनूर गाय को इस नस्ल की सबसे छोटी गाय के रूप में जाना जाता है. साथ ही यह गाय पौष्टिक दूध के लिए भी मशहूर है. सातारा जिले के कराड में आयोजित एक कृषि प्रदर्शनी में इस गाय ने सबका ध्यान खींचा है. इस गाय के मालिक एस. रामू हैं.

एस. रामू बताते हैं कि पुंगनूर शुद्ध भारतीय मूल की गाय है. यह दुनिया की सबसे छोटी गाय मानी जाती है. यह 2 से 3 फीट ऊंचाई की होती है. यह सफेद, काली, लाल आदि रंगों में पाई जाती है. इस गाय के पैर बंडे नहीं होते हैं. लेकिन एक अलग विशेषता यह है कि इस गाय की पूंछ जमीन को छूती है.

गाय का वजन 120 से 200 किलो
इस गाय का वजन 120 किलोग्राम से लेकर 200 किलोग्राम तक होता है. गाय पालना बहुत सुविधाजनक है. गाय छोटी होने के कारण विशेष गोठा या अलग से व्यवस्था करने की जरूरत नहीं पड़ती. यह चारा भी कम खाती है. यह हरे और सूखे दोनों तरह के चारे खाती है. इसलिए इस गाय को सूखा प्रभावित गांवों में भी पाला जा सकता है. गाय को प्रतिदिन गुड़ और दो लीटर पानी की जरूरत होती है.

इन गायों का आहार कम होता है, लेकिन इनका दूध पौष्टिक और स्वास्थ्यवर्धक होता है. एक गाय सुबह दो लीटर और शाम में दो लीटर दूध देती है. गाय का दूध अधिक पौष्टिक और गाढ़ा होता है. इस कारण दूध में फैट की मात्रा अधिक होती है और यह बाजार में 300 रुपये प्रति लीटर तक बिकता है. इस गाय की कीमत दो से पांच लाख या उससे भी ज्यादा है. भारत में ये गायें मुख्य रूप से हैदराबाद, तिरुपति बालाजी, आंध्र प्रदेश, चेन्नई और तमिलनाडु में पाई जाती हैं.

Tags: Cow, Maharashtra News

Source link

RELATED LATEST NEWS