Download Our App

Follow us

Home » भारत » अयोध्या में प्राण-प्रतिष्ठा के बाद पहली रामनवमी, 6 लाख श्रद्धालु पहुंचे

अयोध्या में प्राण-प्रतिष्ठा के बाद पहली रामनवमी, 6 लाख श्रद्धालु पहुंचे

अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद आज पहली रामनवमी है। बुधवार दोपहर 12 बजे अभिजीत मुहूर्त में रामलला का 3 मिनट तक सूर्य तिलक होगा। सुबह 3.30 बजे मंदिर के कपाट खुल गए, आम दिनों में यह 6.30 बजे खुलते हैं। श्रद्धालु रात 11.30 बजे तक, यानी 20 घंटे दर्शन कर सकेंगे।

सुबह कपाट खुलने के बाद रामलला का दूध से अभिषेक, फिर श्रृंगार किया गया। इस दौरान भक्त रामलला का दर्शन भी करते रहे। सुबह 5 बजे मंगला आरती हुई। 8 बजे तक 6 लाख श्रद्धालु अयोध्या पहुंच चुके हैं। राम जन्मभूमि परिसर में लंबी लाइनें लगी हैं। हनुमानगढ़ी के बाहर तेज हवा से सड़क पर लगाए गए पर्दे गिर गए। इसमें 4 लोग घायल हो गए।

राम पथ, भक्ति पथ और जन्मभूमि पथ पर काफी भीड़ है। शयन आरती के बाद रात 11:30 बजे रामलला के कपाट बंद किए जाएंगे।

रामलला आज गुलाबी वस्त्र में, फूलों से बना दिव्य हार धारण किए

रामलला को आज गुलाबी वस्त्र पहनाए गए हैं। जिस पर सूर्य का चिह्न बना है। उन्हें सोने का मुकुट, हार आदि पहनाया गया है, जिसमें हीरा-पन्ना, माणिक्य, नीलम जैसे रतन जड़े हैं। रामलला की पूजा में गुलाब, कमल, गेंदा, चंपा, चमेली जैसे फूलों का प्रयोग किया गया है। इन फूलों से बने दिव्य हार भी उनको पहनाए गए हैं।

2 बजे से सरयू स्नान और 3:30 बजे से रामलला का दर्शन चल रहा

रामनवमी की तैयारियों पर अयोध्या रेंज के IG प्रवीण कुमार ने कहा- हमने सभी जगहों पर सुरक्षा बलों की तैनाती की है। श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला जारी है। तड़के 2 बजे से ही सरयू घाट पर स्नान चल रहा है। 3:30 बजे से दर्शन शुरू है, श्रद्धालु रामलला के दर्शन के लिए राम मंदिर पहुंच रहे हैं।

7 जोन और 39 सेक्टर में बंटी रामनगरी

सुरक्षा को देखते हुए अयोध्या को 7 जोन और 39 सेक्टर में बांटा गया है। सीसीटीवी कैमरों से लैस किया गया है। सरयू घाट समेत भीड़भाड़ वाली जगहों पर ड्रोन से नजर रखी जा रही है। दो यातायात जोन बनाए गए हैं। इसके तहत 11 क्लस्टर में पूरी अयोध्या को बांटकर यातायात व्यवस्था सुनिश्चित कराई जा रही है।

 

 

Shree Om Singh
Author: Shree Om Singh

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS