Download Our App

Follow us

Home » राजनीति » वाई एस जगन मोहन रेड्डी को एक और झटका: अमरावती में YSR कांग्रेस के दफ्तर पर चला बुलडोजर

वाई एस जगन मोहन रेड्डी को एक और झटका: अमरावती में YSR कांग्रेस के दफ्तर पर चला बुलडोजर

ताडेपल्ली में निर्माणाधीन YSRCP कार्यालय ध्वस्त, जगन मोहन रेड्डी ने मुख्यमंत्री पर लगाया बदले की राजनीति का आरोप

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी को सत्ता से बाहर होते ही एक के बाद एक झटके लग रहे हैं। हाल ही में अमरावती में निर्माणाधीन YSR कांग्रेस के दफ्तर पर बुलडोजर चलने की घटना सामने आई है, जिसे रेड्डी ने राजनीतिक बदले की कार्रवाई करार दिया है।

सुबह 5:30 बजे शुरू हुआ विध्वंस
मिली जानकारी के अनुसार, शनिवार को कड़ी सुरक्षा के बीच अमरावती राजधानी क्षेत्र विकास प्राधिकरण (CRDA) ने ताडेपल्ली में निर्माणाधीन वाईएसआरसीपी कार्यालय भवन को ध्वस्त करने का काम शुरू कर दिया। तड़के सुबह 5:30 बजे इस विध्वंस अभियान की शुरुआत हुई, जब खुदाई मशीनों और बुलडोजरों की मदद से इमारत को गिराया जाने लगा। यह इमारत कुछ ही दिनों में बनकर तैयार होने वाली थी, लेकिन अब इसे पूरी तरह से ढहा दिया गया है।

कोर्ट की अवमानना का आरोप
YSR कांग्रेस पार्टी ने इस विध्वंस को अवैध करार दिया है। पार्टी के एक नेता के अनुसार, वाईएसआरसीपी ने CRDA की प्रारंभिक कार्रवाइयों को चुनौती देते हुए एक दिन पहले ही हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। हाई कोर्ट ने किसी भी विध्वंस गतिविधि को रोकने का आदेश दिया था, जिसे वाईएसआरसीपी के वकील ने CRDA आयुक्त को सौंपा था। इसके बावजूद, अदालत की अवमानना करते हुए इमारत को गिराया गया।

पूर्व में भी हुई कार्रवाई
यह पहली बार नहीं है जब वाई एस जगन मोहन रेड्डी को इस तरह की कार्रवाई का सामना करना पड़ा हो। इससे पहले हैदराबाद महानगर निगम (GHMC) ने रेड्डी के लोटस पॉन्ड आवास से लगे फुटपाथ पर अवैध निर्माण को ध्वस्त कर दिया था। यह कार्रवाई रेड्डी के आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के 10 दिन बाद की गई थी। जीएचएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, नगर निगम के अधिकारियों ने जगन के आवास के सामने फुटपाथ पर परिसर की दीवार से सटे अवैध निर्माण को गिराया। इन अवैध निर्माणों का उपयोग सुरक्षाकर्मियों द्वारा किया जा रहा था।

राजनीतिक बदले का आरोप
वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने इन कार्रवाइयों को राजनीतिक बदले की भावना से प्रेरित बताया है। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू व्यक्तिगत दुश्मनी के चलते इस तरह की कार्रवाई कर रहे हैं। रेड्डी ने कहा कि यह सब राजनीति से प्रेरित है और लोकतंत्र के लिए खतरनाक है।

RELATED LATEST NEWS