Download Our App

Follow us

Home » राजनीति » BSF प्रमुख मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनेद को फिर उत्तराधिकारी बनाया

BSF प्रमुख मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनेद को फिर उत्तराधिकारी बनाया

बसपा प्रमुख मायावती ने भतीजे आकाश आनंद को फिर से अपना उत्तराधिकारी बना दिया। साथ ही नेशनल कोऑर्डिनेटर की जिम्मेदारी भी सौंप दी। आकाश अब पूरे देश में पार्टी का काम देखेंगे। रविवार 23 जून को बसपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में मायावती ने इसका ऐलान किया।


आकाश भी बैठक में शामिल हुए। उन्होंने मायावती के पैर छुए तो उन्होंने सिर पर हाथ रखा, फिर पीठ थपथपाकर आशीर्वाद दिया। मायावती ने लोकसभा चुनाव के बीच 7 मई यानी 47 दिन पहले आकाश को अपरिपक्व (इम्मैच्योर) बताते हुए पार्टी के सभी अहम पदों से हटा दिया था।

लोकसभा चुनाव में हार के बाद मायावती ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की पहली बैठक बुलाई। यह 3 घंटे तक चली। मायावती ने इसमें उप चुनाव समेत आगामी सभी चुनाव लड़ने की बात भी कही। यानी अब यूपी विधानसभा की 10 सीटों पर होने वाले उप चुनाव पर भी पार्टी अपने प्रत्याशी उतारेगी।

जहां भी बसपा मजबूत, वहां चुनाव लड़ेंगे: डॉ. लालजी मेधानकर

बिहार बसपा के प्रभारी और कोऑर्डिनेटर डॉ. लालजी मेधानकर भी बैठक में शामिल हुए। उन्होंने बताया कि मायावती ने कहा है कि अब हम उप चुनाव भी लड़ेंगे। सिर्फ यूपी नहीं, देश में जहां भी हम मजबूत हैं, वहां चुनाव लड़ेंगे।

बसपा नेता सरवर मलिक ने बताया, मायावती ने कहा कि क्या हुआ जो हम चुनाव हार गए। संघर्ष करेंगे, फिर चुनाव लड़ेंगे। आकाश आनंद की वापसी हो चुकी है। उन्हें उत्तराधिकारी बनाया है। इस बात पर भी मंथन हुआ कि चुनाव में क्या कमियां रह गईं। वहीं, मुस्लिम वोटर्स पर इस बैठक में कोई बातचीत नहीं हुई।

सतीश मिश्रा और पिता के साथ बैठे आकाश

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में आकाश आनंद, पिता अशोक कुमार और सतीश चंद्र मिश्रा के साथ बैठे। वह उन्हीं के साथ ही मीटिंग में आए थे। बैठक में 200 से ज्यादा राज्य और राष्ट्रीय स्तर के बसपा के पदाधिकारी शामिल हुए। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने मायावती को चुनाव में हार की रिपोर्ट सौंपी थी। इस रिपोर्ट को लेकर भी मायावती ने पार्टी पदाधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए।

उत्तराखंड चुनाव में स्टार प्रचारक बनाया

बसपा ने 21 जून को उत्तराखंड में दो सीटों पर होने वाले उप चुनाव में स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की। इसमें आकाश का नाम दूसरे नंबर पर था। तभी अंदाजा लगाया जा रहा था कि मायावती की आकाश से नाराजगी दूर हो गई है। आकाश को सभी पद वापस देकर मायावती ने साफ कर दिया कि अब भविष्य में आकाश ही पार्टी को संभालेंगे।

मायावती ने आकाश आनंद को फिर अपना उत्तराधिकारी बनाया

बसपा की राष्ट्रीय बैठक में मायावती ने बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने भतीजे आकाश आनंद केा फिर से अपना उत्तराधिकारी बना दिया है। साथ ही नेशनल कोर्डिनेटर की भी जिम्मेदारी दे दी है।

आकाश ने 2017 में राजनीति में की थी एंट्री

आकाश आंनद 2017 में पहली बार सहारनपुर की जनसभा में मायावती के साथ नजर आए थे। इसके बाद वह लगातार पार्टी का काम करते रहे। 2019 में उन्हें नेशनल कोऑर्डिनेटर बनाया गया। 2022 के हिमाचल विधानसभा चुनाव में पहली बार आकाश आनंद का नाम स्टार प्रचारकों की लिस्ट में आया था। आकाश ने लंदन से मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (MBA) की पढ़ाई की है। आकाश की शादी बसपा के पूर्व राज्यसभा सदस्य अशोक सिद्धार्थ की बेटी डॉ. प्रज्ञा से हुई है।

 

ये भी पढ़ें-पाकिस्तान: भीड़ द्वारा एक व्यक्ति की पीट-पीट कर हत्या मामले में 27 गिरफ्तार

 

 

RELATED LATEST NEWS