Download Our App

Follow us

Home » यात्रा » भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, चारधाम यात्रा पर रोक

भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, चारधाम यात्रा पर रोक


भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित
देहरादून और आसपास के क्षेत्रों में बीते कई दिनों से हो रही भारी बारिश के चलते जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। नदियों का जलस्तर बढ़ने और भूस्खलन की घटनाओं के कारण लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। बारिश के कारण सड़कें जलमग्न हो गई हैं और यातायात भी प्रभावित हुआ है।

चारधाम यात्रा पर लगी रोक
बारिश के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए प्रशासन ने चारधाम यात्रा पर रोक लगा दी है। गढ़वाल कमिश्नर ने निर्देश जारी करते हुए श्रद्धालुओं और अन्य यात्रियों को सलाह दी है कि वे ऋषिकेश से ऊपर न जाएं। उन्होंने यह भी कहा है कि जो यात्री यात्रा के किसी पड़ाव पर रुके हैं, वे वहीं पर रुकें और आगे न बढ़ें। प्रशासन की यह पहल यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए की गई है।

मौसम विभाग का अलर्ट
मौसम विभाग ने 7 जुलाई के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। कुंमाऊ मंडल में रेड अलर्ट और गढ़वाल मंडल में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। राज्य की मदांकनी, पिंडर, अलकनंदा और गंगा सहित अन्य नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है, जिससे बाढ़ का खतरा भी बना हुआ है। प्रशासन ने यात्रियों को आज यात्रा न करने की सलाह दी है।

श्रद्धालुओं के लिए निर्देश
हर साल लाखों श्रद्धालु चारधाम यात्रा पर जाते हैं और देश के कोने-कोने से हजारों किलोमीटर का सफर तय करके यहां पहुंचते हैं। लेकिन इस बार भारी बारिश के कारण कई हादसे देखने को मिले हैं। भूस्खलन के कारण कई रास्ते बंद हो गए हैं, जिससे यात्रा बाधित हो रही है। प्रशासन की ओर से लगातार लोगों को निर्देश दिए जा रहे हैं कि वे नदियों और नालों के पास न जाएं और अनावश्यक यात्रा न करें।

सुरक्षा के उपाय
प्रशासन ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए कई कदम उठाए हैं। श्रद्धालुओं को सलाह दी गई है कि वे सुरक्षित स्थानों पर रहें और मौसम के सुधार होने तक यात्रा को स्थगित कर दें। प्रशासन ने यह भी सुनिश्चित किया है कि सभी आवश्यक सेवाएं और सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं ताकि किसी को भी किसी प्रकार की असुविधा न हो।

इस प्रकार, प्रशासन और मौसम विभाग के निर्देशों का पालन करके हम अपनी और अपने प्रियजनों की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं। भारी बारिश के इस दौर में संयम और सतर्कता बरतना अत्यंत आवश्यक है।

RELATED LATEST NEWS