Download Our App

Follow us

Home » चुनाव » CM योगी ने कांग्रेस पर बोला हमला, कहा- कांग्रेस और सपा के DNA में राम द्रोह है

CM योगी ने कांग्रेस पर बोला हमला, कहा- कांग्रेस और सपा के DNA में राम द्रोह है

कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और INDIA गठबंधन पर तीखा हमला बोलते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोप लगाया कि विपक्ष के नेताओं के डीएनए में ‘राम द्रोह’ भरा हुआ है.

उत्तर प्रदेश के सीएम ने ये टिप्पणी पूर्व कांग्रेस नेता राधिका खेड़ा के इस्तीफे पर बोलते हुए की.

एएनआई से बात करते हुए, योगी आदित्यनाथ ने कहा, “वह राम लला का आशीर्वाद लेने के लिए अयोध्या आई थीं और कांग्रेस के नेताओं ने उनका अपमान किया. अपमान से तंग आकर उन्होंने इस्तीफा दे दिया. इससे पता चलता है कि कांग्रेस ,सपा और INDIA अलायंस से जुड़े लोगों के DNA में ‘राम द्रोह’ है.

उन्होंने आगे कहा- जो व्यक्ति राम द्रोही है, देश की जनता ऐसे लोगों के पक्ष में कभी अपना वोट नहीं देगी.

यूपी सीएम ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जनता अब पार्टी के छद्म स्वरूप से पूरी तरह वाकिफ हो चुकी है. उन्होंने कहा, “देश की जनता कांग्रेस के छद्म स्वरूप से भली-भांति परिचित है. जनता जानती है कि वे (कांग्रेस) अब जो भी दिखावा कर रहे हैं, वह वास्तविकता पर आधारित नहीं है. वे सिर्फ देश की जनता को धोखा देना चाहते हैं, लेकिन जनता इनके नाटक को जानती है इसलिए जनता इसे रसातल की ओर धकेल रही है.”

इससे पहले एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए खेड़ा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस राम विरोधी और सनातन विरोधी है.

उन्होंने कहा, “मैंने हमेशा सुना है कि कांग्रेस राम विरोधी, सनातन विरोधी और हिंदू विरोधी है, लेकिन मैंने कभी इस पर विश्वास नहीं किया. महात्मा गांधी हर बैठक की शुरुआत ‘रघुपति राघव राजा राम’ से करते थे. जब मैं राम के पास गई तो मुझे इस वास्तविकता से अवगत हुआ. अपनी दादी के साथ मंदिर गई और वहां से लौटने के बाद, मैंने अपने घर के दरवाजे पर ‘जय श्री राम’ का झंडा लगा दिया और उसके बाद कांग्रेस पार्टी मुझसे नफरत करने लगी, जब भी मैंने तस्वीरें या वीडियो पोस्ट किए, मुझे डांटा गया और पूछा गया कि जब चुनाव प्रक्रिया चल रही थी तब अयोध्या क्यों गई.”

पार्टी सदस्यों पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाने के बाद रविवार को राधिका खेड़ा ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने आरोप लगाया कि इस मुद्दे पर न तो प्रियंका और न ही राहुल गांधी ने उन्हें मिलने का समय दिया.

खेड़ा ने कहा, ”मैं तीन साल से राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाद्रा से समय मांग रही हूं लेकिन उनमें से कोई भी मुझसे नहीं मिला. मुझे हमेशा एक कार्यालय से दूसरे कार्यालय भेजा जाता था. यहां तक ​​कि न्याय यात्रा के दौरान भी राहुल गांधी किसी से नहीं मिले. 5 मिनट के लिए लोगों के पास आना और हाथ हिलाना और अपने ट्रेलर पर वापस जाना. उनकी न्याय यात्रा उनके नाम के लिए थी, मुझे लगता है कि वह सिर्फ एक ट्रैवल व्लॉगर बनना चाहते हैं और वह वहां ट्रैवल व्लॉगिंग कर रहे थे. मैंने प्रियंका गांधी वाड्रा से मिलने की कोशिश की. लेकिन वह किसी से नहीं मिलती हैं. वह कहती हैं.”

खेड़ा ने रविवार को एआईसीसी को एक पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि अयोध्या में राम मंदिर के दर्शन के दौरान पार्टी सदस्यों द्वारा दुर्व्यवहार के बाद उन्हें न्याय नहीं मिला.

पत्र में कहा गया था, “प्राचीन काल से यह स्थापित सत्य है कि धर्म का समर्थन करने वालों का विरोध होता रहा है. इसके उदाहरण हिरण्यकशिपु से लेकर रावण और कंस तक हैं. वर्तमान में कुछ लोग भगवान श्री राम का नाम लेने वालों का भी इसी तरह विरोध कर रहे हैं. प्रत्येक हिंदू के लिए, भगवान श्री राम का जन्मस्थान अपनी पवित्रता के साथ बहुत महत्व रखता है और जहां प्रत्येक हिंदू राम लला के दर्शन मात्र से अपना जीवन सफल मानता है, वहीं कुछ लोग इसका विरोध कर रहे हैं.

 

ये भी पढ़ें-ICC ने T20 विश्व कप पर आतंकी खतरों की रिपोर्ट के बाद शेयरधारकों को दिया आश्वासन

 

Shree Om Singh
Author: Shree Om Singh

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS