Download Our App

Follow us

Home » भारत » जून में बिजली खपत में 9% की वृद्धि, गर्मी के चलते एयर कंडीशनर और कूलर की बढ़ी मांग

जून में बिजली खपत में 9% की वृद्धि, गर्मी के चलते एयर कंडीशनर और कूलर की बढ़ी मांग

बिजली खपत का आंकड़ा 152.38 अरब यूनिट पहुंचा


भारत में जून 2024 में बिजली खपत में सालाना आधार पर 9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई, जो कुल 152.38 अरब यूनिट रही। इस वृद्धि का मुख्य कारण भीषण गर्मी और उमस रही, जिससे घरों और दफ्तरों में एयर कंडीशनर और कूलर का अधिक उपयोग हुआ। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, जून 2023 में बिजली खपत 140.27 अरब यूनिट थी।

अधिकतम बिजली सप्लाई का नया रिकॉर्ड
जून 2024 में एक दिन में सबसे अधिक बिजली सप्लाई 245.41 गीगावाट (1 गीगावाट = 1,000 मेगावाट) तक पहुंच गई, जबकि पिछले साल जून में यह आंकड़ा 223.29 गीगावाट था। इस साल मई में बिजली की अधिकतम मांग सर्वकालिक उच्च स्तर 250.20 गीगावाट पर पहुंच गई थी। इसके विपरीत, सितंबर 2023 में यह मांग 243.27 गीगावाट दर्ज की गई थी।

गर्मियों में 260 गीगावाट तक पहुंच सकती है मांग
विद्युत मंत्रालय ने इस साल मई के लिए दिन के समय 235 गीगावाट और शाम के समय 225 गीगावाट की अधिकतम बिजली मांग का अनुमान लगाया था। जून 2024 के लिए दिन के समय 240 गीगावाट और शाम के समय 235 गीगावाट की अधिकतम बिजली मांग का अनुमान था। मंत्रालय ने यह भी भविष्यवाणी की है कि गर्मियों में बिजली की अधिकतम मांग 260 गीगावाट तक पहुंच सकती है।

मॉनसूनी बारिश से मिली राहत
विशेषज्ञों का मानना है कि जून के दूसरे पखवाड़े में मॉनसूनी बारिश के आगमन से चिलचिलाती गर्मी और उमस में कुछ राहत मिली है। इससे एयर कंडीशनर और डेजर्ट कूलर का उपयोग कम हुआ, लेकिन फिर भी बिजली की खपत और मांग में वृद्धि जारी रही। विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले दिनों में भी अत्यधिक उमस के चलते एयर कंडीशनर का उपयोग जरूरी हो जाएगा, जिससे बिजली की मांग और खपत इसी स्तर पर बनी रहेगी।

अगले 3 दिन में पूरे देश में पहुंचेगा मॉनसून
भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, अगले दो से तीन दिन में राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के शेष हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। सोमवार को जारी सबसे ताजा बुलेटिन के अनुसार, अगले तीन दिनों में मॉनसून के पूरे देश में पहुंच जाने की संभावना है।

बिजली खपत के साथ मांग भी बढ़ी
मॉनसूनी बारिश के बावजूद बिजली की खपत और मांग में वृद्धि जारी है। विशेषज्ञों का कहना है कि अत्यधिक गर्मी और उमस के कारण लोग एयर कंडीशनर और कूलर का जमकर उपयोग कर रहे हैं। इससे देश में बिजली की खपत बढ़ी है और मांग भी बढ़ी है। इस स्थिति के चलते आने वाले दिनों में बिजली की मांग और खपत में वृद्धि होने की संभावना है।

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

कांवड़ नेमप्लेट मामले पर SC ने लगाई अंतरिम रोक, यूपी, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश सरकारों को नोटिस जारी

नई दिल्ली: कांवड़ नेमप्लेट मामले पर आज (सोमवार) सुप्रीम कोर्ट का अंतरिम फैसला आया है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने कांवड़ियां

Live Cricket