Download Our App

Follow us

Home » व्यापार » गिरावट से उभरकर हरे निशान पर बंद हुआ बाजार

गिरावट से उभरकर हरे निशान पर बंद हुआ बाजार

बुधवार के कारोबारी सत्र में स्टॉक मार्केट में तेजी देखने को मिली है। बीते दिन बाजार में गिरावट देखने को मिली थी।

आज सेंसेक्स 526.01 अंक या 0.73 प्रतिशत की तेजी के साथ 72,996.31 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी 119 अंक या 0.54 प्रतिशत बढ़कर 22,123.70 अंक पर पहुंच गया।

आज सेक्टरों में ऑटो, बैंक, कैपिटल गुड्स, पावर, रियल्टी, टेलीकॉम 0.5-1 फीसदी की तेदी आई है। मेटल, आईटी, मीडिया 0.3-0.5 फीसदी गिरे हैं। बीएसई मिडकैप इंडेक्स सपाट नोट पर बंद हुआ और स्मॉलकैप इंडेक्स 0.7 फीसदी चढ़ा।

निफ्टी के टॉप गेनर और लूजर स्टॉक

निफ्टी पर रिलायंस इंडस्ट्रीज, मारुति सुजुकी, बजाज ऑटो, बजाज फाइनेंस और टाइटन कंपनी के शेयर टॉप गेनर रहे, जबकि हीरो मोटोकॉर्प, टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स, अपोलो हॉस्पिटल्स, डॉ रेड्डीज लैब्स और विप्रो के शेयरों में लाल निशान पर बंद हुआ।

सेंसेक्स टॉप गेनर और लूजर स्टॉक

सेंसेक्स बास्केट से रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में 3.50 प्रतिशत की तेजी आई। इसके बाद मारुति, बजाज फाइनेंस, टाइटन, कोटक महिंद्रा बैंक, एचडीएफसी बैंक, इंडसइंड बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा और लार्सन एंड टुब्रो के शेयर में तेजी देखने को मिली है।

वहीं, विप्रो, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, नेस्ले, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज और टाटा मोटर्स के शेयर लाल निशान पर बंद हुए।

ग्लोबल मार्केट का हाल

एशियाई बाजारों में, टोक्यो सकारात्मक क्षेत्र में बंद हुआ, जबकि सियोल, शंघाई और हांगकांग निचले स्तर पर बंद हुए। यूरोपीय बाजार मिश्रित रुख पर कारोबार कर रहे थे। वॉल स्ट्रीट मंगलवार को नकारात्मक क्षेत्र में समाप्त हुआ।

एक्सचेंज डेटा के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) मंगलवार को 10.13 करोड़ रुपये की इक्विटी खरीदी। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.96 प्रतिशत गिरकर 85.42 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल पर आ गया।

भारतीय करेंसी में गिरावट

इंटरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में भारतीय करेंसी 83.33 पर खुली और ग्रीनबैक के मुकाबले 83.45 के इंट्राडे निचले स्तर को छू गई। अंततः डॉलर के मुकाबले रुपया 83.36 पर बंद हुई, जो पिछले बंद से 7 पैसे की हानि दर्ज करती है।

मंगलवार को रुपया अब तक के सबसे निचले स्तर से उबर गया और अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 32 पैसे बढ़कर 83.29 पर बंद हुआ।

 

 

Shree Om Singh
Author: Shree Om Singh

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS