Download Our App

Follow us

Home » भारत » उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश ने भेजा इस्तीफा पत्र

उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश ने भेजा इस्तीफा पत्र

न्यायमूर्ति अभिजीत गंगोपाध्याय
न्यायमूर्ति अभिजीत गंगोपाध्याय

कोलकाता, – उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश, न्यायमूर्ति अभिजीत गंगोपाध्याय ने अपने पद से इस्तीफा देने का निर्णय लिया है। उनके इस्तीफा पत्र को वे राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, भारत के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ और कलकत्ता उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश टीएस शिवगणम को डाक द्वारा भेज दिया गया है।

न्यायमूर्ति गंगोपाध्याय ने अपने अंतिम दिन के बाद अदालत परिसर के बाहर संवाददाताओं से कहा कि वे इस्तीफा देने का निर्णय लेते हुए अपने नैतिक और कानूनी दायित्वों को पूरा करने के लिए प्रेरित हुए हैं।

न्यायमूर्ति अभिजीत गंगोपाध्याय के इस निर्णय का संवेदनशीलता में स्वागत किया गया है, जिसे कुछ वकीलों और न्यायिक विशेषज्ञों ने “न्याय की ऊँचाई और नैतिकता के प्रतीक” के रूप में स्वीकार किया है। उन्होंने  सेवानिवृत्ति के बाद अपने अनुभव और ज्ञान को समाज के लाभ के लिए उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है।

इस्तीफा पत्र भेजने के पश्चात, उनके प्रशंसकों ने उन्हें समाज सेवा में उनकी योगदान के लिए सलामी दी है। वे उन्हें न्यायमूर्ति गंगोपाध्याय के इस कदम के लिए प्रशंसा करते हैं जिससे न्याय और नैतिकता के मानकों को मजबूती मिलेगी।

उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश ने भाजपा में शामिल होने का किया ऐलान

कुछ घंटों के पूर्व उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश अभिजीत गंगोपाध्याय ने मंगलवार को अपने न्यायाधीश पद से इस्तीफा देने के बाद एक महत्वपूर्ण घोषणा की। उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में घोषणा की कि वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो रहे हैं।

न्यायमूर्ति गंगोपाध्याय ने सम्मेलन में कहा, “मैं भाजपा में शामिल हो रहा हूं क्योंकि यह बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रही है।” उन्होंने अपने इस कदम को बंगाल के राजनीतिक परिदृश्य में एक महत्वपूर्ण परिवर्तन के रूप में विशेष रूप से चिह्नित किया।

उन्होंने यह भी जताया कि उनका यह निर्णय उनके विशेष रूप से तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ उनके जुझारू समर्थकों की भावनाओं को सामने रखते हुए लिया गया है।

न्यायमूर्ति गंगोपाध्याय का यह निर्णय राजनीतिक दलों के बीच बंगाल में उत्तेजना और राजनीतिक गतिशीलता में नए रंग भर सकता है। इसके साथ ही, भाजपा की राजनीतिक परिचय में भी एक महत्वपूर्ण और स्थायी सदस्य के रूप में उनकी शामिलता हो सकती है।

Aarambh News
Author: Aarambh News

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS