Download Our App

Follow us

Home » भारत » देशभर में गर्मी का कहर जारी, सीएम योगी ने प्रशासन के लिए जारी की गाइडलाइन

देशभर में गर्मी का कहर जारी, सीएम योगी ने प्रशासन के लिए जारी की गाइडलाइन

पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में भीषण गर्मी का प्रकोप देखने को मिल रहा है और तापमान बढ़ रहा है. ऐसे में आम लोगों और पशुधन, वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए हर स्तर पर पुख्ता इंतजाम किए जाएं, ऐसा मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया.

कहीं भी अनावश्यक बिजली कटौती नहीं होनी चाहिए

सीएम ने निर्देश दिया है कि,राहत आयुक्त कार्यालय के स्तर से प्रतिदिन मौसम पूर्वानुमान का बुलेटिन जारी किया जाए. भीषण गर्मी/लू का मौसम चल रहा है. ऐसे में गांव हो या शहर, कहीं भी अनावश्यक बिजली कटौती नहीं होनी चाहिए. यदि आवश्यकता हो तो अतिरिक्त बिजली खरीदने की व्यवस्था करें. ट्रांसफार्मर जलने/तार गिरने, ट्रिपिंग जैसी समस्याओं का अविलंब समाधान किया जाए. अधिकारी फोन अटेंड करें और कोई विवाद न हो, अगर ऐसा होता है तो वरिष्ठ अधिकारी तत्काल मौके पर खुद पहुंचें.

कहीं भी पेयजल की कमी नहीं होनी चाहिए

समस्त नगर निकायों/ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक स्थानों पर पेयजल व्यवस्था रखी जाय. बाजार/मुख्य मार्गों पर जगह-जगह पेयजल की व्यवस्था होनी चाहिए. इस कार्य में सामाजिक/धार्मिक संगठनों का भी सहयोग लिया जाये. सड़कों पर नियमित रूप से पानी का छिड़काव किया जाना चाहिए. पानी की कमी से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों में टैंकरों के माध्यम से आपूर्ति सुनिश्चित की जाए. कहीं भी पेयजल की कमी नहीं होनी चाहिए.

सभी धार्मिक स्थलों पर विशेष ध्यान दिया जाए

सीएम ने निर्देश दिया, साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है. अयोध्या, काशी, मथुरा आदि सभी धार्मिक स्थलों पर विशेष ध्यान दिया जाए. बड़े मंगल को देखते हुए लखनऊ में साफ-सफाई, यातायात एवं अन्य व्यवस्थाएं सुचारू रहें. भीषण गर्मी के बीच पशुधन और वन्यजीवों की सुरक्षा का ध्यान रखना भी जरूरी है. सभी प्राणी उद्यानों/अभयारण्यों में हीट-वेव कार्ययोजना को प्रभावी ढंग से लागू किया जाना चाहिए.

बारिश से पहले पशुओं के टीकाकरण की प्रक्रिया जारी रखें

उन्होंने निर्देश दिया कि लू चलने की स्थिति में पशुधन को सुरक्षित रखने के पुख्ता इंतजाम होने चाहिए. गौ आश्रय स्थलों में पशुओं के लिए हरे चारे, चोकर तथा पानी की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए. बारिश से पहले पशुओं के टीकाकरण की प्रक्रिया जारी रखें. लू के लक्षण एवं बचाव के संबंध में जन सामान्य को जागरूक किया जाए. बीमारी की स्थिति में सभी को तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायें. लू से प्रभावित लोगों का तुरंत अस्पतालों/मेडिकल कॉलेजों में इलाज कराया जाए.

पक्षियों के लिए छोटे बर्तनों में पानी और दाना रखें

शहरों में पेयजल आपूर्ति निर्धारित रोस्टर के अनुसार की जाए, सभी हैण्डपम्प क्रियाशील रखे जाएं तथा ग्रामीण पाइप पेयजल योजनाओं को सुचारु रूप से संचालित किया जाए. सार्वजनिक स्थानों पर पेयजल स्टॉल चलाना एक नेक काम है, सार्वजनिक स्थानों पर मवेशियों, कुत्तों आदि के लिए पानी और छाया की व्यवस्था की जानी चाहिए. आम जनता को पक्षियों के लिए छोटे बर्तनों में पानी और दाना रखने के लिए जागरूक करें.

 

ये भी पढ़ें-  मुझे लगता है कि भारत ने जोखिम लिया है: T20 विश्व कप टीम पर माइकल क्लार्क

 

RELATED LATEST NEWS