Download Our App

Follow us

Home » दुर्घटना » भीषण गर्मी में स्प्लिट एसी के ब्लास्ट से बचाव: महत्वपूर्ण सुझाव और उपाय

भीषण गर्मी में स्प्लिट एसी के ब्लास्ट से बचाव: महत्वपूर्ण सुझाव और उपाय

भीषण गर्मी के मौसम में चिलचिलाती धूप और गर्म हवाओं के कारण घर से बाहर निकलना बेहद मुश्किल हो गया है। तापमान इतना बढ़ गया है कि कूलर भी बेअसर हो गए हैं। ऐसी स्थिति में एयर कंडीशनर (एसी) ही एकमात्र उपाय लगता है जो गर्मी से राहत दिला सकता है। हालांकि, कुछ लोग एसी का इतना गलत इस्तेमाल कर रहे हैं कि इसके चलते एसी ब्लास्ट हो रहे हैं। यदि आपके घर में भी स्प्लिट एसी लगा है, तो इसे सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करना चाहिए।

 

स्प्लिट एसी ब्लास्ट की घटनाएं और उनके कारण

पिछले कुछ दिनों में स्प्लिट एसी के ब्लास्ट की कई घटनाएं सामने आई हैं। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, लेकिन ज्यादातर मामलों में हमारे गलत तरीके से इस्तेमाल करने के कारण एसी ब्लास्ट हो जाता है। आइए, जानते हैं उन कारणों के बारे में जिनसे स्प्लिट एसी में आग लग जाती है और ब्लास्ट हो सकता है।

एसी का ओवरहीट होना

स्प्लिट एसी के ब्लास्ट का सबसे बड़ा कारण इसका ओवरहीट होना है। गर्मी बढ़ने के साथ ही एसी का इस्तेमाल भी बढ़ जाता है। कुछ लोग एसी को लगातार कई घंटे तक चलाते रहते हैं, जिससे कंप्रेसर पर अधिक जोर पड़ता है और ओवरहीटिंग की वजह से आग या ब्लास्ट हो सकता है।

यदि आप चाहते हैं कि आपका एसी ठीक से काम करता रहे और इसमें ब्लास्ट जैसी घटना न हो, तो आपको 2-3 घंटे से ज्यादा लगातार एसी नहीं चलाना चाहिए। इससे एसी को आराम मिलता है और ओवरहीटिंग का खतरा कम हो जाता है।

रेफ्रिजरेंट गैस का लीक होना

कई बार लोगों को पता नहीं चलता और रेफ्रिजरेंट गैस लीक होती रहती है। रेफ्रिजरेंट गैस के लीक होने से कूलिंग प्रभावित होती है और यह एसी ब्लास्ट का भी कारण बन सकता है। रेफ्रिजरेंट गैस की नियमित जांच कराना आवश्यक है ताकि गैस लीक की समस्या से बचा जा सके।

वोल्टेज का बार-बार बढ़ना और घटना

यदि आपके घर का वोल्टेज बार-बार बढ़ता और घटता है तो इससे एसी पर बुरा असर पड़ता है। लगातार ऐसा होने पर कंप्रेसर पर प्रभाव पड़ता है और इससे ब्लास्ट हो सकता है। वोल्टेज स्टेबलाइजर का उपयोग करना चाहिए ताकि एसी को उचित वोल्टेज मिल सके और ब्लास्ट का खतरा कम हो।

अन्य कारण और सावधानियां

स्प्लिट एसी के ब्लास्ट के पीछे कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं, जैसे कि एसी की नियमित सर्विसिंग न कराना, एयर फिल्टर का गंदा होना, और एसी के आसपास ज्वलनशील सामग्री का होना। इसलिए, एसी की नियमित सर्विसिंग कराएं, एयर फिल्टर को समय-समय पर साफ करें, और एसी के आसपास किसी भी ज्वलनशील सामग्री को न रखें।

RELATED LATEST NEWS