Download Our App

Follow us

Home » भारत » CAA को लेकर अमेरिका को भारत का करारा जवाब

CAA को लेकर अमेरिका को भारत का करारा जवाब

संयुक्त राज्य अमेरिका ने भारत में CAA लागू को लेकर आपत्ति जताई और कहा कि वह इस पर कड़ी निगरानी रख रहा है। इसको लेकर भारत ने अमेरिका को करारा जवाब दिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि CAA राज्यविहीनता को संबोधित करता है, मानवीय गरिमा देता है और मानवाधिकारों का समर्थन करता है।

CAA की आलोचना करने पर दिया जवाब

भारत ने अमेरिका को जवाब देते हुए कहा, “नागरिकता संशोधन अधिनियम मानवाधिकारों के प्रति दीर्घकालिक प्रतिबद्धता को ध्यान में रखते हुए यह भारत का आंतरिक मामला है। CAA कानून नागरिकता देने के लिए है, यह क नागरिकता छीनने के लिए नहीं है।

CAA पर अमेरिकी विदेश मंत्रालय के बयान को गलत, अनुचित और बेतुका बताया है। भारतीय विदेश विभाग ने कहा, “भारतीय संविधान में सभी नागरिकों को धार्मिक स्वतंत्रता की आजादी देता है, ऐसे में अल्पसंख्यकों पर चिंता का कोई आधार नहीं है।”

प्रशंसनीय पहल को राजनीति से जोड़ना गलत

इस कानून के खिलाफ आलोचना के बाद विदेश मंत्रालय ने कहा कि संकट में लोगों की मदद के लिए किए गए प्रशंसनीय पहल को राजनीति से जोड़ना सही नहीं है। जिन लोगों को भारत की बहुलवादी परंपराओं की सीमित समझ है उनके द्वारा व्याख्यान नहीं करना चाहिए।

 

अमेरिका ने CAA को लेकर जताई चिंता

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने कहा है कि हम नागरिकता अधिनियम की अधिसूचना के बारे में चिंतित हैं। उन्होनें कहा, “हम बारीकी से इसपर निगरानी कर रहे हैं। धार्मिक स्वतंत्रता सभी समुदायों के लिए कानून के तहत समान व्यवहार मौलिक सिद्धांत हैं।”

Shree Om Singh
Author: Shree Om Singh

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS