Download Our App

Follow us

Home » राजनीति » जगन रेड्डी पार्टी के कार्यालय को नगर निकाय ने ध्वस्त किया

जगन रेड्डी पार्टी के कार्यालय को नगर निकाय ने ध्वस्त किया

राजधानी क्षेत्र विकास प्राधिकरण (सीआरडीए) ने कथित अवैध निर्माण को लेकर वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को नोटिस जारी किया था।

वाईएसआरसीपी ने शुक्रवार को उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था

गुंटूर जिले के ताडेपल्ली में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के निर्माणाधीन केंद्रीय कार्यालय को कथित अवैध निर्माण को लेकर नगर निगम के अधिकारियों ने शनिवार तड़के ध्वस्त कर दिया।

मंगलगिरी-ताडेपल्ली नगर निगम (एमटीएमसी) के अधिकारियों ने खुदाई और बुलडोजर का उपयोग करके लगभग 5:30 a.m. विध्वंस शुरू किया।

राजधानी क्षेत्र विकास प्राधिकरण (सीआरडीए) ने कथित अवैध निर्माण को लेकर विपक्षी दल को नोटिस जारी किया था।

वाईएसआरसीपी ने सीआरडीए कार्यालय को चुनौती देते हुए शुक्रवार को उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। पार्टी के एक प्रवक्ता ने दावा किया कि अदालत ने किसी भी विध्वंस गतिविधि को रोकने का आदेश दिया था और वाईएसआरसीपी के वकील ने सीआरडीए आयुक्त को इसकी जानकारी दी थी।

सी.आर.डी.ए. और एम.टी.एम.सी. अधिकारियों के अनुसार, वाई. एस. आर. सी. पी. कार्यालय सिंचाई विभाग की जमीन पर बनाया जा रहा था। आरोप थे कि जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआरसीपी की पिछली सरकार के तहत, भूमि, जिसका उपयोग बोटयार्ड के लिए किया जा रहा था, को थोड़ी राशि के लिए पट्टे पर लिया गया था।

ऐसे भी आरोप थे कि निर्माण सीआरडीए और एमटीएमसी से मंजूरी लिए बिना किया गया था।

पूर्व मुख्यमंत्री और वाईएसआरसीपी अध्यक्ष वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने तेदेपा के नेतृत्व वाली सरकार की कार्रवाई की निंदा की है। ‘एक्स’ पर अपने पोस्ट में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चंद्राबाबू नायडू ने राजनीतिक प्रतिशोध का सहारा लिया है। उन्होंने कहा कि एक तानाशाह ने उच्च न्यायालय के आदेशों की अनदेखी करते हुए बुलडोजरों से वाईएसआरसीपी के केंद्रीय कार्यालय को ध्वस्त कर दिया।

जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि इन कृत्यों के माध्यम से नायडू एक संदेश दे रहे थे कि अगले पांच वर्षों तक उनका शासन कैसा रहने वाला है। हालांकि, वाईएसआरसीपी प्रमुख ने कहा कि पार्टी अब इन धमकियों और राजनीतिक प्रतिशोध के सामने झुकेगी। उन्होंने लोगों की ओर से लड़ने का संकल्प लिया और देश की सभी लोकतांत्रिक ताकतों से नायडू के इन कृत्यों की निंदा करने की अपील की।

RELATED LATEST NEWS