Download Our App

Follow us

Home » भारत » फिलिस्तीनियों से घर-जमीन और अधिकार छीने गए- जयशंकर

फिलिस्तीनियों से घर-जमीन और अधिकार छीने गए- जयशंकर

मलेशिया दौरे पर गए एस जयशंकर ने इजराइल-हमास जंग पर बयान दिया है। उन्होंने कहा, “इजराइल-हमास जंग का सबसे बड़ा तथ्य यही है कि फिलिस्तीनियों से उनका घर, उनकी जमीन और अधिकार छीन लिए गए हैं।”

कुआलालंपुर में भारतीय समुदाय से बात करते हुए जयशंकर ने कहा, “पूरे विवाद में सच या झूठ चाहे जो भी हो, लेकिन मानवीय कानूनों का पालन करना जरूरी है।” जयशंकर ने 7 अक्टूबर को इजराइल पर हमास के अटैक को आतंकवादी हमला बताते हुए इसकी निंदा भी की।

चीन से रिश्ते सामान्य तभी होंगे जब उनकी सेना पीछे हटेगी

इसके अलावा विदेश मंत्री जयशंकर ने भारत-चीन के रिश्तों पर भी बात की। उन्होनें कहा, “दोनों देशों में द्विपक्षीय रिश्ते सामान्य तभी हो सकते हैं जब चीन की सेना पीछे हटे और उनकी तैनाती पुराने पॉइंट्स पर की जाए। हम चीन के सामने साफ शब्दों में ये बात रख चुके हैं। मेरा कर्तव्य है कि मैं अपने देशवासियों के लिए पहले सीमा को सुरक्षित करूं और मैं इससे कभी पीछे नहीं हटूंगा।”

विदेश मंत्री ने यह भी कहा कि भारत अब चीन से कई मुद्दों पर बात कर रहा है। दोनों देशों के अधिकारी समय-समय पर मिलते रहते हैं। इस बीच दोनों देशों में सेनाओं को LAC तक न लाने पर सहमति बनी है।

2020 में चीन ने समझौता तोड़ा, सीमा पर खूनखराबा किया

जयशंकर ने कहा, “सीमा विवाद के बीच 1980 के दशक में दोनों देशों में इस बात सहमति बनी थी कि कोई भी अपनी सेनाओं को सीमा पर तैनात नहीं करेगा। साथ ही किसी भी स्थिति में हिंसा या खूनखराबे का सहारा नहीं लिया जाएगा। लेकिन, चीन ने साल 2020 में इस समझौते को तोड़ दिया और सीमा पर खूनखराबा हुआ।”

इसके अलावा जयशंकर ने रूस-यूक्रेन जंग पर भी भारत का पक्ष रखा। उन्होंने कहा, “जंग की शुरुआत से ही हमारा रुख साफ रहा है। किसी भी मसले का हल युद्ध के मैदान में नहीं निकाला जा सकता। इसमें किसी की जीत नहीं होती है। भारत हमेशा से ही जंग को खत्म करने के पक्ष में रहा है।”

 

Shree Om Singh
Author: Shree Om Singh

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS