Download Our App

Follow us

Home » कानून » शीर्ष चुनावी बॉन्ड खरीदारों की सूची

शीर्ष चुनावी बॉन्ड खरीदारों की सूची

चुनाव आयोग द्वारा अपलोड किए गए आंकड़ों से 12 अप्रैल, 2019 से अब तक 1,000 रुपये से 1 करोड़ रुपये के मूल्य के चुनावी बॉन्ड की खरीद के बारे में विवरण सामने आया है।

सुप्रीम कोर्ट ने फरवरी 2024 में चुनावी बॉन्ड योजना को रद्द कर दिया, जिसने राजनीतिक दलों को गुमनाम धन की अनुमति दी थी।

भारत के चुनाव आयोग ने गुरुवार को चुनावी बॉन्ड पर व्यापक डेटा जारी किया, जिसमें 2019 से 2024 तक योजना के माध्यम से राजनीतिक दलों में शीर्ष योगदानकर्ताओं का खुलासा किया गया। इस सूची में सबसे ऊपर सैंटियागो मार्टिन की प्रमुख लॉटरी कंपनी फ्यूचर गेमिंग एंड होटल सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड है, जिसने 1,368 करोड़ रुपये का योगदान दिया है।

दूसरा सबसे बड़ा दाता मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एम.ई.आई.एल.) है, जो हैदराबाद स्थित बुनियादी ढांचे की दिग्गज कंपनी है, जिसे जोजिला सुरंग जैसी महत्वपूर्ण परियोजनाओं में शामिल होने के लिए जाना जाता है। कृष्णा रेड्डी के नेतृत्व में एमईआईएल ने 966 करोड़ रुपये का चंदा दिया है।

तीसरे स्थान पर मुंबई की क्विक सप्लाई चेन प्राइवेट लिमिटेड है, जिसने चुनावी बॉन्ड के माध्यम से 410 करोड़ रुपये का योगदान दिया है।

इसके अलावा शीर्ष दस दानदाताओं में खनन क्षेत्र की दिग्गज कंपनी वेदांता लिमिटेड और आरपी-संजीव गोयनका समूह की हल्दिया एनर्जी शामिल हैं, जिन्होंने क्रमशः 400 करोड़ रुपये और 377 करोड़ रुपये का योगदान दिया है।

भारत के सबसे बड़े समूहों में से एक, भारती एयरटेल समूह और एक अन्य खनन दिग्गज, एस्सेल माइनिंग एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने भी महत्वपूर्ण दान दिया।

स्टील टाइकून लक्ष्मी निवास मित्तल ने व्यक्तिगत रूप से चुनावी बॉन्ड में 35 करोड़ रुपये का योगदान दिया।

चुनाव आयोग द्वारा अपलोड किए गए आंकड़ों से 12 अप्रैल, 2019 से अब तक 1,000 रुपये से 1 करोड़ रुपये के मूल्य के चुनावी बॉन्ड की खरीद के बारे में विवरण सामने आया है।

शीर्ष दानदाताओं की सूचीः

फ्यूचर गेमिंग एंड होटल सर्विसेज पीआरः 1,368 करोड़ रुपये

मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेडः 966 करोड़ रुपये।

क्विक सप्लाई चेन प्राइवेट लिमिटेडः 410 करोड़ रुपये

वेदांता लिमिटेडः 400 करोड़ रुपये

हल्दिया एनर्जी लिमिटेडः 377 करोड़ रुपये

भारती एयरटेल ग्रुपः 247 करोड़ रुपये

एस्सेल माइनिंग एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेडः 224 करोड़ रुपये

वेस्टर्न यूपी पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेडः 220 करोड़ रुपये

केवेंटर फूड पार्क इंफ्रा लिमिटेडः 195 करोड़ रुपये

एमकेजे एंटरप्राइजेजः 192 करोड़ रुपये

RELATED LATEST NEWS