Download Our App

Follow us

Home » भारत » मोदी का चीन को जवाब, कहा- अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न हिस्सा था, है और रहेगा

मोदी का चीन को जवाब, कहा- अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न हिस्सा था, है और रहेगा

भारत और चीन के बीच अरुणाचल प्रदेश को लेकर विवाद बढ़ चुका है। कुछ दिनों पहले चीनी सरकार ने राज्य के विभिन्न स्थानों के 30 नए नामों की चौथी सूची जारी की। ड्रैगन के इस नापाक हरकत पर मोदी सरकार ने कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है। इसी बीच पीएम मोदी ने भी चीन के इस फैसले की घोर निंदा करते हुए प्रतिक्रिया दी है।

अखबार असम ट्रिब्यून को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा,” ‘अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है, था और हमेशा रहेगा।”

पीएम मोदी ने सेला टनल का किया जिक्र

वहीं, पीएम मोदी ने अरुणाचल प्रदेश में बने ‘सेला टनल’ के महत्व का भी जिक्र किया। बता दें कि ये दुनिया की सबसे लंबी डबल-लेन टनल है। उन्होंने कहा कि यह एक वास्तविक रणनीतिक गेम-चेंजर है, जो तवांग को हर मौसम में कनेक्टिविटी प्रदान करता है।’

उन्होंने पूर्वी-उत्तर भारत के विकास का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ये क्षेत्र नए भारत की सबसे बड़ी सफलता की कहानी के रूप में उभरा है।

जानकारी के मुताबिक इस सुरंग की वजह से चीन सीमा तक की दूरी लगभग 10 किमी तक कम हो गई है। ये एलएसी के नजदीक बनी है, जिससे चीन सीमा तक जल्दी पहुंचा जा सकेगा।

काल्पनिक नाम रख देने से इस वास्तविकता नहीं बदल जाएगा

चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश के स्थानों का नाम बदलने की कवायद को भारत खारिज करता रहा है। भारत का कहना है कि यह राज्य देश का अभिन्न अंग है और काल्पनिक नाम रख देने से इस वास्तविकता में कोई बदलाव नहीं आएगा।

अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा: एस जयशंकर

कुछ दिनों पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर ने चीन की आलोचना करते हुए कहा था,” चीन के जरिए अरुणाचल के क्षेत्रों के नाम बदलने के प्रयास से इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है और रहेगा। उन्होंने कहा कि अरुणाचल प्रदेश भारतीय राज्य था, है और भविष्य में भी रहेगा। जयशंकर ने कहा कि नाम बदलने से कुछ हासिल नहीं होगा। अगर मैं आपके घर का नाम बदल दूं, तो क्या वह मेरा हो जाएगा?

 

Shree Om Singh
Author: Shree Om Singh

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS