Download Our App

Follow us

Home » शिक्षा » NTA ने CSIR UGC NET परीक्षा 2024 को स्थगित किया: लॉजिस्टिक इश्यूज का हवाला

NTA ने CSIR UGC NET परीक्षा 2024 को स्थगित किया: लॉजिस्टिक इश्यूज का हवाला

देशभर में चल रहे नीट पेपर लीक और यूजीसी नेट परीक्षा को रद्द करने के बीच NTA ने एक और महत्वपूर्ण परीक्षा को स्थगित करने का निर्णय लिया 


देशभर में इस वक्त नीट पेपर लीक और यूजीसी नेट परीक्षा को रद्द करने पर बवाल मचा हुआ है। विभिन्न राज्यों में इस मुद्दे पर लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं। इन सभी विवादों के बीच, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने एक और परीक्षा को स्थगित करने का ऐलान किया है। NTA ने CSIR UGC NET परीक्षा 2024 को स्थगित कर दिया है। आइए जानते हैं कि इस परीक्षा को स्थगित करने के पीछे NTA ने क्या कारण बताया है।

स्थगन का कारण
NTA ने अपने आधिकारिक नोटिस में बताया है कि इस परीक्षा को स्थगित करने का निर्णय ‘लॉजिस्टिक इश्यूज’ के कारण लिया गया है। NTA ने जारी नोटिस में कहा है कि संयुक्त सीएसआईआर-यूजीसी-नेट परीक्षा जून-2024, जो 25 जून 2024 से 27 जून 2024 के बीच आयोजित होने वाली थी, अपरिहार्य परिस्थितियों और लॉजिस्टिक मुद्दों के चलते स्थगित की जा रही है।

संशोधित कार्यक्रम की घोषणा
परीक्षा की नई तारीखों के बारे में NTA ने कहा है कि संशोधित कार्यक्रम बाद में आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से घोषित किया जाएगा। NTA ने छात्रों को सलाह दी है कि वे किसी भी नए अपडेट के लिए आधिकारिक वेबसाइट https://csirnet.nta.ac.in पर विजिट करते रहें। इसके साथ ही किसी भी प्रश्न या स्पष्टीकरण के लिए, उम्मीदवार NTA हेल्प डेस्क को 011-40759000 या 011-69227700 पर कॉल कर सकते हैं या NTA को csirnet@nta.ac.in पर लिख सकते हैं।

CSIR UGC NET परीक्षा का महत्व
संयुक्त CSIR UGC NET परीक्षा भारतीय नागरिकों को जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ) और लेक्चरशिप/सहायक प्रोफेसर के लिए पात्रता प्रदान करती है। यह पात्रता उन उम्मीदवारों को दी जाती है जो यूजीसी द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं और भारतीय विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में अध्ययनरत होते हैं।

इस परीक्षा का स्थगन उम्मीदवारों के लिए एक बड़ा झटका हो सकता है, खासकर उन छात्रों के लिए जो लंबे समय से इसकी तैयारी कर रहे थे। हालांकि, NTA ने परीक्षा के स्थगन का ठोस कारण बताकर छात्रों को भविष्य के लिए सतर्क रहने की सलाह दी है।

परीक्षा स्थगन के बावजूद, उम्मीदवारों को उम्मीद नहीं छोड़नी चाहिए और अपनी तैयारी जारी रखनी चाहिए। NTA द्वारा नए कार्यक्रम की घोषणा होते ही, छात्र अपनी योजनाओं को फिर से व्यवस्थित कर सकते हैं। एनटीए का यह निर्णय एक अस्थायी असुविधा है, और छात्रों को धैर्य और संयम के साथ इसका सामना करना चाहिए।

RELATED LATEST NEWS