Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » पाकिस्तान की नई सरकार ने भारत से मित्रता में दिखाई रूचि

पाकिस्तान की नई सरकार ने भारत से मित्रता में दिखाई रूचि

साद अहमद वाराइच को पाकिस्तान ने कार्यवाहक उच्चायुक्त के तौर पर दिल्ली हाई कमिशन में 3 वर्षों के लिए नियुक्त किया
साद अहमद वाराइच

साद अहमद वाराइच को पाकिस्तान ने कार्यवाहक उच्चायुक्त के तौर पर दिल्ली हाई कमिशन में 3 वर्षों के लिए नियुक्त किया है। उन्होंने 26 फरवरी को अपना कार्यभार संभाल लिया। साथ ही यह भी खबर है कि इस वर्ष पाकिस्तान दिल्ली में अपना राष्ट्रीय दिवस भी मनाएगा। 2019 के बाद यह पहला अवसर है जब पाकिस्तान ऐसा करने जा रहा है।

इन दो निर्णयों से ऐसा दिख रहा है कि पाकिस्तान में नई सरकार भारत के प्रति संबंध बेहतर बनाने के लिए इच्छुक है।

हाल ही में संपन्न हुए चुनाव के बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) संयुक्त रूप से सरकार बनाने जा रही हैं। शाहबाज शरीफ प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। नवनिर्मित सरकार को पाकिस्तानी सेना का भी समर्थन प्राप्त है।

पाकिस्तान में हुआ चुनाव विवादों से घिरा रहा। जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की तहरीक ए इंसाफ पार्टी 93 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। हालांकि कोई भी पार्टी स्पष्ट बहुमत पाने में नाकाम रही। इमरान खान ने आरोप लगाया कि नई सरकार का गठन लोगों के बहुमत के खिलाफ है। पीएमएल-एन को 75 सीटें मिली और पीपीपी ने 54 सीटों पर जीत दर्ज की।

पाकिस्तान हर साल 23 मार्च को राष्ट्रीय दिवस मनाता है। 23 मार्च, 1940 को ही लाहौर रेजोल्यूशन पास किया गया था जिसमें मुसलमान के लिए एक स्वतंत्र राष्ट्र की मांग की गई थी। 2019 के बाद से पहली बार पाकिस्तान अपना राष्ट्रीय दिवस दिल्ली में मनाएगा जो की कोविड-19 और खराब संबंधों के चलते रोक दिया गया था।

2019 में भारत के द्वारा जम्मू और कश्मीर का स्पेशल स्टेटस हटाने के बाद से ही पाकिस्तान ने नई दिल्ली से अपना हाई कमिश्नर बुला लिया था। तब से लेकर अब तक दोनों देशों ने एक दूसरे की राजधानी में हाई कमिश्नरों की नियुक्ति नहीं की है।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS