Download Our App

Follow us

Home » भारत » भाजपा शासित राज्यों गुजरात, बिहार और हरियाणा में पेपर लीक हुआ और वे लोग मेरा नाम घसीट रहे हैं- तेजस्वी यादव

भाजपा शासित राज्यों गुजरात, बिहार और हरियाणा में पेपर लीक हुआ और वे लोग मेरा नाम घसीट रहे हैं- तेजस्वी यादव

बिहार के उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा द्वारा यादव के निजी सचिव और एक आरोपी इंजीनियर के बीच संबंध निकालने की मांग के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव ने कथित नीट पेपर लीक मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ी.

उन्होंने कहा कि भाजपा सरगना से ‘ध्यान भटकाना’ चाहती थी इसलिए वे उसका नाम घसीट रहे हैं.

राजद नेता ने कहा, “INDIA गठबंधन इस मुद्दे पर एकजुट है. हम चाहते हैं कि NEET परीक्षा तुरंत रद्द कर दी जाए. भाजपा के पास सभी जांच एजेंसियां हैं, वे जांच के लिए पीएस या पीए किसी को भी बुला सकते हैं. वे ध्यान भटकाना चाहते हैं. मामला सरगना से है. जो लोग मेरा या मेरे पीए का नाम घसीटना चाहते हैं, इससे किसी को फायदा नहीं होगा. जिस इंजीनियर की बात हो रही है, वह लाभार्थी हो सकता है लेकिन अमित आनंद और नीतीश कुमार ही पेपर लीक के मास्टरमाइंड हैं देश की जनता जानती है कि जब भी बीजेपी सत्ता में आती है तो पेपर लीक हो जाते हैं.”

बीजेपी शासित राज्यों में पेपर लीक हुआ है- तेजस्वी

तेजस्वी ने आगे कहा कि बीजेपी शासित राज्यों बिहार, गुजरात और हरियाणा में पेपर लीक हुआ है.

यादव ने कहा, “केवल विजय सिन्हा ही ये दावे कर रहे हैं. आर्थिक अपराध शाखा (ईओयू) ने कभी कोई सवाल नहीं उठाया. जब मई में गिरफ्तारियां हुईं तब से हम जांच करने के लिए आवाज उठा रहे हैं. इंजीनियर (सिकंदर यादवेन्दु) जिसके बारे में वे बात कर रहे हैं कि 2021 में उनके द्वारा जल संसाधन विभाग से नगर विकास में भर्ती की गई थी. शिक्षक भर्ती परीक्षा के तीसरे चरण में जब पेपर लीक हुआ तो वे अमित आनंद और नीतीश कुमार को क्यों बचाना चाहते हैं.”

बिहार के डिप्टी सीएम सिन्हा ने दावा किया कि तेजस्वी के निजी सचिव, प्रीतम कुमार ने मामले के आरोपियों में से एक सिकंदर कुमार यादवेंदु के लिए एक कमरा बुक करने के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के एक गेस्ट हाउस कर्मचारी को बुलाया था.

सिन्हा ने गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “1 मई को, तेजस्वी यादव के निजी सचिव प्रीतम कुमार ने रांची में जेल में बंद सिकंदर कुमार यादवेंदु के लिए एक कमरा बुक करने के लिए गेस्टहाउस कर्मचारी प्रदीप कुमार को फोन किया. 4 मई को, प्रीतम कुमार ने एनएचएआई गेस्ट हाउस में कमरा बुक करने के लिए प्रदीप कुमार को फिर से फोन किया. ‘मंत्री’ शब्द का इस्तेमाल तेजस्वी यादव के लिए किया गया था.”

डिप्टी सीएम ने तेजस्वी यादव से इस बात पर भी स्पष्टीकरण मांगा कि क्या प्रीतम कुमार अब भी उनके निजी सचिव हैं और सिकंदर यादवेंदु कौन हैं.

गौरतलब है कि पटना पुलिस ने नीट परीक्षा देने वाले कुछ अभ्यर्थियों समेत कई लोगों को गिरफ्तार किया है. उनमें से चार की पहचान हुई है- अनुराग यादव, एक नीट उम्मीदवार, उनके चाचा सिकंदर यादवेंदु और दो अन्य- नीतीश कुमार और आनंद.

 

ये भी पढ़ें-शाहरुख खान ने छोड़ी Don 3: डॉन 3 में शाहरुख को रणवीर सिंह ने रिप्लेस किया, फरहान अख्तर ने तोड़ी चुप्पी

 

 

RELATED LATEST NEWS