Download Our App

Follow us

Home » चुनाव » ओडिशा के मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी के शपथ समारोह के लिए पीएम मोदी भुवनेश्वर पहुंचे

ओडिशा के मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी के शपथ समारोह के लिए पीएम मोदी भुवनेश्वर पहुंचे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनता मैदान में शाम 5 बजे होने वाले ओडिशा के मनोनीत मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए बुधवार को भुवनेश्वर पहुंचे.

ओडिशा के राज्यपाल रघुबर दास और मनोनीत सीएम माझी ने हवाई अड्डे पर व्यक्तिगत रूप से प्रधान मंत्री मोदी का स्वागत किया. प्रधान मंत्री, जिन्होंने हाल ही में 9 जून को लगातार तीसरी बार शपथ ली थी, ने पारंपरिक सफेद कुर्ता और चूड़ीदार पहना था, जिसके साथ हल्के रंग की जैकेट भी थी.

समारोह में भाजपा के कई हाई-प्रोफाइल नेता मौजूद रहेंगे

समारोह में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कई हाई-प्रोफाइल नेता भी मौजूद रहेंगे. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा, हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उन गणमान्य लोगों में शामिल थे जो गवाह बनने के लिए भुवनेश्वर पहुंचे थे.

इससे पहले दिन में, अपने शपथ ग्रहण समारोह से पहले, ओडिशा के मनोनीत मुख्यमंत्री मोहन चरण मांझी ने कहा कि ओडिशा की ‘अस्मिता’ (गौरव) की रक्षा करना नई सरकार की प्राथमिकता होगी.

ओडिशा के गौरव की रक्षा के लिए काम करना है

चार बार के विधायक मोहन चरण माझी आज शाम ओडिशा के सीएम पद की शपथ लेंगे. दो उप मुख्यमंत्री के रुप में पहली बार विधायक रहीं पार्वती परिदा और छह बार विधायक कनक वर्धन सिंह देव भी आज शपथ लेंगे.

माझी ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा, “नई सरकार आज शपथ लेगी. शपथ लेने के बाद पहला काम ओडिशा की ‘अस्मिता’ (गौरव) की रक्षा के लिए काम करना है.”

1997-2000 तक सरपंच के रूप में अपना करियर शुरू करने वाले माझी 2000 में पहली बार क्योंझर से राज्य विधानसभा के लिए चुने गए. 2004 में उन्हें फिर से चुना गया. 2005 से 09 तक, वह बीजेडी-बीजेपी गठबंधन सरकार में सरकारी उप मुख्य सचेतक थे. वह 2019 में फिर से विधायक चुने गए. हाल के चुनावों में, माझी ने बीजद की मीना माझी को 11,577 वोटों से हराकर सीट बरकरार रखी.

लोकसभा चुनाव के साथ ही हुए विधानसभा चुनाव में बहुमत हासिल करने के बाद बीजेपी ओडिशा में अपनी पहली सरकार बनाएगी.

कल विधायकों की बैठक के लिए पार्टी के केंद्रीय पर्यवेक्षकों के रूप में राजनाथ सिंह और केंद्रीय मंत्री भूपेन्द्र यादव राज्य की राजधानी में थे.

भाजपा ने ओडिशा विधानसभा की 147 सीटों में से 78 सीटें जीतीं.

 

ये भी पढ़ें- दिल्ली के 10 से अधिक संग्रहालयों को मिली बम से उड़ाने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस

 

RELATED LATEST NEWS