Download Our App

Follow us

Home » अंतरराष्ट्रीय संबंध » प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रूस और ऑस्ट्रिया यात्रा: द्विपक्षीय संबंधों में नए आयाम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रूस और ऑस्ट्रिया यात्रा: द्विपक्षीय संबंधों में नए आयाम

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 08-10 जुलाई 2024 को रूस और ऑस्ट्रिया की आधिकारिक यात्रा करेंगे। विदेश मंत्रालय ने इस दौरे की जानकारी दी है। प्रधानमंत्री मोदी इस दौरान रूस और ऑस्ट्रिया के शीर्ष नेताओं से मुलाकात करेंगे और विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे। यह यात्रा दोनों देशों के साथ भारत के संबंधों को और मजबूत करने का महत्वपूर्ण अवसर होगी।

रूस यात्रा: वार्षिक शिखर सम्मेलन में भागीदारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 से 9 जुलाई के दौरान रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के निमंत्रण पर 22वें भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए मास्को में होंगे। यह यात्रा रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के बाद पीएम मोदी की पहली रूस यात्रा होगी। इस शिखर सम्मेलन में दोनों नेता बहुआयामी संबंधों की समीक्षा करेंगे और आपसी हित के समकालीन क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विचार रखेंगे। यह बैठक द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने का अवसर प्रदान करेगी।

विदेश मंत्रालय के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति पुतिन परंपरागत रूप से मैत्रीपूर्ण रूसी-भारतीय संबंधों के आगे विकास की संभावनाओं पर चर्चा करेंगे। इसके साथ ही, अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय एजेंडे के प्रासंगिक मुद्दों पर भी विचार-विमर्श करेंगे। यह बैठक दोनों देशों के लिए महत्वपूर्ण होगी क्योंकि यह दोनों नेताओं को वैश्विक मुद्दों पर एक साथ काम करने का मौका देगी।

ऑस्ट्रिया यात्रा: 41 साल बाद भारतीय प्रधानमंत्री की पहली यात्रा

प्रधानमंत्री मोदी इसके बाद 9 से 10 जुलाई के दौरान ऑस्ट्रिया की यात्रा करेंगे। यह 41 सालों में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की ऑस्ट्रिया की पहली यात्रा होगी। पीएम मोदी ऑस्ट्रिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वान डेर बेलन से मुलाकात करेंगे और ऑस्ट्रिया के चांसलर कार्ल नेहमर के साथ भी बातचीत करेंगे। इस यात्रा का उद्देश्य दोनों देशों के बीच राजनीतिक, आर्थिक और सांस्कृतिक संबंधों को और मजबूत करना है।

ऑस्ट्रिया यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वियना में भारतीय समुदाय के लोगों से भी बातचीत करेंगे। यह मुलाकात भारतीय समुदाय के साथ संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने का प्रयास होगा। इस यात्रा के माध्यम से भारत और ऑस्ट्रिया के बीच सहयोग के नए आयाम खुलने की संभावना है।

हाथरस भगदड़ पर रूसी राष्ट्रपति का शोक संदेश

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने उत्तर प्रदेश में एक धार्मिक समागम में हुई भगदड़ में लोगों की जान जाने पर शोक व्यक्त किया था। रूस के राष्ट्रपति ने भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शोक संदेश भेजा था। भारत में रूसी दूतावास ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, “रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने उत्तर प्रदेश में हुई दुखद भगदड़ पर भारत की राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को शोक संदेश भेजा है। कृपया उत्तर प्रदेश में हुई दुखद दुर्घटना पर संवेदना स्वीकार करें।”

RELATED LATEST NEWS