Download Our App

Follow us

Home » अपराध » पुणे पोर्शे कार हादसा: नाबालिग आरोपी के पिता विशाल अग्रवाल को जमानत

पुणे पोर्शे कार हादसा: नाबालिग आरोपी के पिता विशाल अग्रवाल को जमानत

पहले केस में मिली राहत, अभी भी अन्य मामलों का सामना
पुणे में हुए चर्चित पोर्शे कार हादसा मामले में नाबालिग आरोपी के पिता विशाल अग्रवाल को उनके पहले दर्ज मामले में जमानत मिल गई है। विशाल अग्रवाल के खिलाफ और भी दो केस पहले से दर्ज हैं। पहले मामले में विशाल अग्रवाल पर अपने नाबालिग बेटे को लेकर लापरवाही बरतने का आरोप था। इसी मामले में शुक्रवार को कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी।

 

हादसे में शामिल विशाल अग्रवाल की गिरफ्तारी और जमानत
पुणे पोर्शे कार हादसा मामले में विशाल अग्रवाल को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। मुख्य आरोपी के रूप में उन्हें कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। तब से विशाल अग्रवाल जेल में बंद थे। शुक्रवार को कोर्ट में पेशी के बाद उन्हें जमानत मिल गई है।

नाबालिग आरोपी के दादा सुरेंद्र अग्रवाल की गिरफ्तारी
इस मामले में नाबालिग आरोपी के दादा सुरेंद्र अग्रवाल को भी पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सुरेंद्र अग्रवाल के खिलाफ उनके ड्राइवर ने पुलिस को शिकायत दी थी, जिसमें अपहरण के आरोप लगाए गए थे। इसी आधार पर आईपीसी की धारा 365, 366 के तहत केस दर्ज कर उन्हें जेल भेजा गया।

हादसे का विवरण और पुलिस की कार्यवाही
सीपी अमितेश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि हादसे की घटना रात ढाई बजे की है। सुबह 8 बजे करीब इसकी शिकायत पुलिस थाने में की गई थी। धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया गया। सीपी अमितेश कुमार ने कहा कि दुर्घटना वाली रात अजीत पवार गुट के विधायक सुनील टिंगरे पुलिस स्टेशन भी आए थे, जो रिकॉर्ड में दर्ज है। इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई थी, जिसके बाद से यह मामला चर्चा में है।

जमानत की प्रक्रिया और आगे की कार्यवाही
विशाल अग्रवाल को पहले दर्ज मामले में जमानत मिल गई है, लेकिन उनके खिलाफ अन्य मामलों की जांच जारी है। सुरेंद्र अग्रवाल पर अपहरण के चार्ज लगे हैं और उन्हें भी पुलिस हिरासत में रखा गया है। इस हादसे में हुई दो लोगों की मौत ने इसे बेहद गंभीर बना दिया है और पुलिस द्वारा की जा रही जांच में हर पहलू की गहनता से जांच की जा रही है।

इस पूरी घटना ने पुणे शहर में हलचल मचा दी है और लोग इस मामले की सच्चाई जानने के लिए बेताब हैं। पुलिस द्वारा की जा रही जांच और कोर्ट की सुनवाई का सभी को इंतजार है ताकि दोषियों को सही सजा मिल सके।

RELATED LATEST NEWS