Download Our App

Follow us

Home » चुनाव » 5वीं बार राष्ट्रपति बने पुतिन, बोले- दुनिया तीसरे विश्व युद्ध से एक कदम दूर

5वीं बार राष्ट्रपति बने पुतिन, बोले- दुनिया तीसरे विश्व युद्ध से एक कदम दूर

व्लादिमिर पुतिन लगातार 5वीं बार रूस के राष्ट्रपति बने हैं। चुनाव में पुतिन को 88% वोट मिले। उनके विरोधी खारितोनोव को सिर्फ 4% वोट मिले। व्लादिस्लाव दावानकोव और लियोनिद स्लटस्की चुनाव में तीसरे और चौथे नंबर पर रहे।

परिणाम घोषित होने के बाद पुतिन ने कहा- अब रूस पहले से ज्यादा ताकतवर और प्रभावशाली बनेगा। उन्होंने रूस-नाटो विवाद को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा- अगर अमेरिका का नेतृत्व वाला सैन्य संगठन नाटो और रूस सामने आए तो दुनिया तीसरे विश्व युद्ध से महज एक कदम दूर होगी। मुझे नहीं लगता की कोई भी ऐसा चाहेगा।

पहली बार 2000 में रूस के राष्ट्रपति बने

पुतिन पहली बार वर्ष 2000 में राष्ट्रपति बने थे। वो 2008 तक राष्ट्रपति रहे। 2012 में तत्कालीन राष्ट्रपति मेदवेदेव ने पार्टी से एक बार फिर पुतिन को प्रेसिडेंट कैंडिडेट के लिए नॉमिनेट करने के लिए कहा। इसके बाद 2012 के चुनाव में फिर से पुतिन ने जीत दर्ज की और सत्ता में वापस लौट आए। तब से लेकर अब तक वो राष्ट्रपति पद पर हैं।

2036 तक राष्ट्रपति रह सकते हैं पुतिन

रूस के संविधान में है कि कोई भी व्यक्ति लगातार दो बार से ज्यादा वहां का राष्ट्रपति नहीं बन सकता है। इसके वजह से 2008 में पुतिन ने अपने पीएम मेदवेदेव को रूस का राष्ट्रपति बनाया और खुद पीएम बन गए। नवंबर 2008 में मेदवेदेव ने संविधान में संशोधन कर राष्ट्रपति का कार्यकाल 4 से बढ़ाकर 6 साल कर दिया।

2012 में फिर से पुतिन रूस के राष्ट्रपति बन गए। उन्होंने लगातार राष्ट्रवाद को बढ़ावा दिया और रुस की जनता को सोवियत यूनियन वाला रसूख वापस दिलाने के सपने दिखाए। पुतिन ने 2014 में क्रीमिया पर हमला कर उस पर कब्जा कर लिया।

2020 में पुतिन ने संविधान में संशोधन कर दो बार राष्ट्रपति रहने की सीमा को खत्म कर दी। इस फैसले को सही साबित करने के लिए पुतिन ने जनमत संग्रह भी करवाया।

जीत के बाद पुतिन का संदेश

राष्ट्रपति के चुनाव में जीत के बाद पुतिन ने कहा कि भविष्य में नाटो और रूस के बीच टकराव से इनकार नहीं किया जा सकता, हालांकि, इसमें किसी की भी दिलचस्पी नहीं है। TASS ने पुतिन के हवाले से कहा ‘हमें लगता है कि इस आधुनिक दुनिया में सब कुछ संभव है। लेकिन, यह तीसरे विश्व युद्ध से एक कदम दूर होगा। हमें ऐसा लगता है कि इसकी संभावना नहीं है।

Shree Om Singh
Author: Shree Om Singh

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS