Download Our App

Follow us

Home » व्यापार » भारतीय शेयर बाजार में तेजी: सेंसेक्स और निफ्टी में वृद्धि, फार्मा सेक्टर में उछाल

भारतीय शेयर बाजार में तेजी: सेंसेक्स और निफ्टी में वृद्धि, फार्मा सेक्टर में उछाल

बाजार की स्थिति

भारतीय शेयर बाजार आज गुरुवार को सकारात्मक नोट पर बंद हुआ, जिसमें बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 0.08 फीसदी या 62 अंक की बढ़त के साथ 80,049 पर बंद हुआ। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का प्रमुख सूचकांक निफ्टी 0.09 फीसदी या 20 अंक की बढ़त के साथ 24,307 पर बंद हुआ। बाजार बंद होते समय सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 15 शेयर हरे निशान पर और 15 शेयर लाल निशान पर थे, जबकि निफ्टी के 50 शेयरों में से 21 शेयर हरे निशान पर और 29 शेयर लाल निशान पर थे।

प्रमुख शेयरों का प्रदर्शन

निफ्टी पैक के शेयरों में आज सबसे अधिक तेजी एचसीएल टेक, आईसीआईसीआई बैंक, टाटा मोटर्स, सनफार्मा और इन्फोसिस में दर्ज की गई। एचसीएल टेक और आईसीआईसीआई बैंक ने बाजार में महत्वपूर्ण योगदान दिया, जिससे निफ्टी और सेंसेक्स दोनों में मजबूती आई। इसके विपरीत, सबसे अधिक गिरावट एचडीएफसी बैंक, बजाज फाइनेंस, विप्रो, अडानी एंटरप्राइजेज और टेक महिंद्रा में देखने को मिली। एचडीएफसी बैंक और बजाज फाइनेंस के शेयरों में गिरावट ने बाजार को कुछ हद तक दबाव में रखा।

सेक्टोरल प्रदर्शन

सेक्टोरल सूचकांकों की बात करें, तो गुरुवार को सबसे अधिक तेजी निफ्टी फार्मा में 1.39 फीसदी दर्ज की गई। फार्मा सेक्टर में उछाल का मुख्य कारण घरेलू और वैश्विक स्तर पर हेल्थकेयर सेक्टर की बढ़ती मांग को माना जा सकता है। इसके अलावा, निफ्टी मिडस्मॉल हेल्थकेयर में 1.25 फीसदी, निफ्टी हेल्थकेयर इंडेक्स में 1.28 फीसदी, निफ्टी आईटी में 1.10 फीसदी, और निफ्टी ऑटो में 0.73 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई।

रियल्टी और बैंकिंग सेक्टर ने भी आज बाजार में सकारात्मक योगदान दिया। निफ्टी रियल्टी में 0.51 फीसदी, निफ्टी प्राइवेट बैंक में 0.07 फीसदी, और निफ्टी पीएसयू बैंक में 0.16 फीसदी की बढ़त देखने को मिली। निफ्टी ऑयल एंड गैस ने भी हल्की बढ़त दर्ज की, जिसमें 0.07 फीसदी की वृद्धि रही।

गिरावट वाले सेक्टर्स

इसके विपरीत, कुछ सेक्टर्स में गिरावट भी दर्ज की गई। निफ्टी फाइनेंशियल सर्विसेज में 0.18 फीसदी, निफ्टी एफएमसीजी में 0.21 फीसदी, निफ्टी मीडिया में 0.45 फीसदी, निफ्टी मेटल में 0.03 फीसदी और निफ्टी कंज्यूमर ड्यूरेबल्स में 0.01 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई। इन सेक्टर्स में गिरावट का कारण विशेष रूप से किसी एक प्रमुख कारक से नहीं जुड़ा है, बल्कि सामान्य बाजार उतार-चढ़ाव को इसका कारण माना जा सकता है।

RELATED LATEST NEWS