Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » रिठाला-नरेला-कुंडली मेट्रो कॉरिडोर को मिली मंजूरी

रिठाला-नरेला-कुंडली मेट्रो कॉरिडोर को मिली मंजूरी

26.5 किलोमीटर लंबा कॉरिडोर, 21 स्टेशन और 6,231 करोड़ रुपए की लागत से होगा निर्माण

दिल्ली के नरेला और आसपास के इलाकों में रहनेवालों के लिए एक अच्छी खबर है। केंद्र सरकार ने रिठाला-नरेला-कुंडली मेट्रो कॉरिडोर के निर्माण के लिए आवास और शहरी कार्य मंत्रालय-डीडीए के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। दिल्ली के राजभवन ने यह जानकारी दी है। 26.5 किलोमीटर लंबे इस कॉरिडोर पर कुल 21 स्टेशन होंगे और इसे चार साल की अवधि में पूरा किया जाएगा। इस परियोजना पर 6,231 करोड़ रुपए की लागत आएगी।

दिल्ली के उपराज्यपाल वी. के. सक्सेना ने विभिन्न अवसरों पर केंद्र के समक्ष इस मेट्रो कॉरिडोर के निर्माण का मुद्दा उठाया था। राजभवन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस कॉरिडोर का निर्माण 6,231 करोड़ रुपए की लागत से किया जाएगा, जिसमें दिल्ली में पड़ने वाले भाग पर 5,685.22 करोड़ रुपये और हरियाणा के हिस्से पर 545.77 करोड़ रुपये खर्च होंगे। योजना के अनुसार, इस कॉरिडोर का निर्माण मौजूदा रेड लाइन के विस्तार के रूप में किया जाएगा। दिल्ली में पड़ने वाले भाग की लागत का लगभग 40 प्रतिशत हिस्सा केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाएगा, जबकि 20 प्रतिशत खर्च दिल्ली सरकार करेगी। दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) शेष लागत में 1,000 करोड़ रुपये का योगदान देगा और 37.5 प्रतिशत पूंजी द्विपक्षीय/बहुपक्षीय ऋणों से आएगी। हरियाणा में पड़ने वाले हिस्से को लेकर राज्य सरकार 80 प्रतिशत अनुदान देगी, जबकि शेष 20 फीसदी राशि केंद्र सरकार वहन करेगी।

 

इससे नरेला, बवाना और अलीपुर इलाकों का शहर के बाकी हिस्से से संपर्क में काफी सुधार आएगा और बुनियादी ढांचा मजबूत होगा। यह कॉरिडोर उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली के बीच बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करेगा। अनुमान है कि वर्ष 2028 में इस परियोजना के पूरा होने पर इससे हर रोज 1.26 लाख लोग सफर करेंगे और वर्ष 2055 तक यह संख्या करीब 3.8 लाख हो जाएगी। इस परियोजना से नरेला के डीडीए फ्लैटों की बिक्री में भी बंपर उछाल आने की संभावना है।

 

रिठाला से शुरू होकर यह मेट्रो लाइन रोहिणी के कई सेक्टर और बवाना इंडस्ट्रियल एरिया से गुजरते हुए हरियाणा के कुंडली तक जाएगी। रोहिणी के सात सेक्टर से यह मेट्रो लाइन गुजरेगी। इसके अलावा बरवाला, सनोठ गांव, न्यू सनोठ गांव, नरेला, जेजे कॉलोनी, बवाना औद्योगिक क्षेत्र में दो स्टेशन और नरेला क्षेत्र में पांच स्टेशनों का निर्माण होगा।

RELATED LATEST NEWS