Download Our App

Follow us

Home » भ्रष्टाचार » सीतापुर: अनुपस्थित अध्यापकों और अनुदेशकों पर बीएसए की कड़ी कार्रवाई

सीतापुर: अनुपस्थित अध्यापकों और अनुदेशकों पर बीएसए की कड़ी कार्रवाई

11 अनुदेशकों और 5 अध्यापकों को नोटिस जारी

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में लंबे समय से अनुपस्थित चल रहे पांच अध्यापकों और 11 अनुदेशकों पर बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) ने सख्त कार्रवाई की है। बीएसए अखिलेश सिंह ने बताया कि अनुपस्थित रहने वाले इन सभी अध्यापकों और अनुदेशकों को कई बार नोटिस जारी किए गए थे, लेकिन किसी ने भी विभाग को सूचना नहीं दी। इसी को ध्यान में रखते हुए इन पांच अध्यापकों को बर्खास्त करने की नोटिस जारी की गई है।

तीन अध्यापकों का पहले ही हो चुका है निलंबन

अनुपस्थित चल रहे पांच अध्यापकों में से तीन के खिलाफ पहले ही निलंबन की कार्रवाई की जा चुकी है। इन अध्यापकों में एलिया के प्राथमिक विद्यालय शेखपुरा की सहायक अध्यापिका निधि तिवारी, बिसवां के प्राथमिक विद्यालय बेरिहा की प्रधान अध्यापिका मधु वर्मा, और महोली के कंपोजिट विद्यालय पैलाकीसा की सहायक अध्यापिका प्रीत कौर शामिल हैं। इनके निलंबन के बावजूद, इन अध्यापकों ने विभाग को कोई सूचना नहीं दी और ना ही कार्यालय से संपर्क किया।

अन्य अनुपस्थित अध्यापक और अनुदेशक

बाकी दो अनुपस्थित अध्यापकों में पिसावा के प्राथमिक विद्यालय हरनी किरतपुर की सहायक अध्यापिका पूनम और गोंदलामऊ ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय सरवा की प्रधानाध्यापिका बसुधा कुमारी शामिल हैं। इन सभी अध्यापकों के साथ-साथ 11 अनुदेशकों को भी नोटिस जारी किए गए हैं। ये सभी लोग अपने शिक्षण कार्य को छोड़कर विद्यालय से लगातार अनुपस्थित रहे हैं।

कार्रवाई के पीछे कारण

बीएसए अखिलेश सिंह ने बताया कि विभाग ने अनुपस्थित रहने वाले इन अध्यापकों और अनुदेशकों को कई बार नोटिस जारी किए, लेकिन किसी ने भी विभाग को अपनी अनुपस्थिति का कारण नहीं बताया। इनकी लापरवाही को देखते हुए ही इन पर सख्त कार्रवाई की गई है। बीएसए ने कहा, “इन पांचों अध्यापकों के द्वारा लगातार शिक्षण कार्य में बढ़ती जा रही लापरवाही को देखते हुए विभाग के द्वारा इन्हें बर्खास्त किए जाने की नोटिस जारी की गई है। समय सीमा में अगर इनके द्वारा किसी प्रकार की जानकारी नहीं दी जाती है तो इन सभी के खिलाफ विभाग से बर्खास्त की ही कार्रवाई की जाएगी।”

अनुदेशकों पर भी कार्रवाई

अनुपस्थित रहने वाले 11 अनुदेशकों को भी नोटिस जारी किए गए हैं। बीएसए ने कहा कि अनुदेशकों को भी कई बार नोटिस जारी किए गए थे, लेकिन किसी ने भी विभाग को सूचना नहीं दी। इसलिए इन्हें भी नोटिस जारी कर कार्रवाई की जा रही है।

समय सीमा में प्रतिक्रिया न देने पर होगी बर्खास्तगी

बीएसए अखिलेश सिंह ने स्पष्ट किया है कि यदि इन अध्यापकों और अनुदेशकों ने समय सीमा में कोई जानकारी नहीं दी, तो उन्हें बर्खास्त कर दिया जाएगा। यह कदम शिक्षण कार्य में अनुशासन और समयपालन सुनिश्चित करने के लिए उठाया गया है। बीएसए ने कहा कि विभाग किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेगा और छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने देगा।

RELATED LATEST NEWS