Download Our App

Follow us

Home » विज्ञान और तकनीक » टेक महिंद्रा का जेनरेटिव AI में बड़ा धमाका: आने वाले 3 सालों में होगा बदलाव

टेक महिंद्रा का जेनरेटिव AI में बड़ा धमाका: आने वाले 3 सालों में होगा बदलाव

भारतीय IT कंपनी टेक महिंद्रा जल्द ही जेनरेटिव AI के क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए पूरी तरह तैयार है। कंपनी के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने हाल ही में अपने शेयरहोल्डर्स को इस योजना की जानकारी दी है। अपनी वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए उन्होंने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में कदम रखने का खुलासा किया। महिंद्रा का मानना है कि आईटी टेक्नोलॉजी का भविष्य आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में ही निहित है, और जेनरेटिव AI के आगमन से टेक्नोलॉजी के एक नए युग की शुरुआत हो चुकी है।

AI पर टेक महिंद्रा का फोकस: अगले 3 साल की योजना

आनंद महिंद्रा ने बताया कि अगले तीन सालों तक टेक महिंद्रा का मुख्य फोकस AI के इर्द-गिर्द रहने वाला है। कंपनी ने पिछले कुछ तिमाहियों से इसके लिए योजना बनानी शुरू कर दी है। महिंद्रा ने अपने शेयरहोल्डर्स को लिखे पत्र में कहा है कि कंपनी अगले तीन सालों में अपने ढांचे, रणनीति, टेक्नोलॉजी, स्किल डेवलपमेंट और टैलेंट मैनेजमेंट पर ध्यान केंद्रित करने वाली है। यह परिवर्तन कंपनी की दीर्घकालिक सफलता और प्रतिस्पर्धात्मकता के लिए महत्वपूर्ण होगा।

प्रोजेक्ट Indus: भारत का देसी AI मॉडल

हाल ही में, टेक महिंद्रा ने AI के लार्ज लैंग्वेज मॉडल (LLM) की घोषणा करते हुए प्रोजेक्ट Indus लॉन्च किया है। यह एक देसी लैंग्वेज मॉडल है, जिसके माध्यम से कई भारतीय भाषाओं और बोलियों के साथ संवाद किया जा सकता है। पहले चरण में इस लार्ज लैंग्वेज मॉडल में हिंदी और इसकी 37 बोलियों को शामिल किया गया है। यह परियोजना भारतीय भाषाओं की विविधता और समृद्धि को तकनीकी क्षेत्र में ले जाने का एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

साझेदारी का नया आयाम: Dell और Intel के साथ

टेक महिंद्रा ने प्रोजेक्ट Indus के लिए Dell टेक्नोलॉजी और Intel जैसी प्रमुख कंपनियों के साथ साझेदारी की है। टेक महिंद्रा मेकर्स लैब के ग्लोबल हेड निखिल मल्होत्रा ने प्रोजेक्ट Indus के बारे में कहा कि यह हमारे LLM (लार्ज लैंग्वेज मॉडल) को विकसित करने की दिशा में एक सकारात्मक प्रयास है। Dell टेक्नोलॉजीज और Intel के साथ यह साझेदारी एंटरप्राइज को कटिंग-एज AI सॉल्यूशन्स देने के लिए होगी। इस साझेदारी से टेक महिंद्रा को नए और उन्नत AI सॉल्यूशन्स विकसित करने में मदद मिलेगी, जिससे कंपनी अपने ग्राहकों को बेहतर सेवाएं प्रदान कर सकेगी।

IndiaAI मिशन: भारत का AI में वैश्विक नेतृत्व

3 और 4 जुलाई को आयोजित ग्लोबल IndiaAI समिट में भी भारत के AI मिशन को कई प्रमुख टेक कंपनियों ने सराहा और उसमें भारत को समर्थन देने का वचन दिया। ChatGPT बनाने वाली कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट ने इस समिट में कहा कि वे IndiaAI मिशन के लिए पूरी तरह समर्पित हैं। इस मिशन का उद्देश्य भारत को AI के क्षेत्र में वैश्विक नेतृत्व की ओर ले जाना है। समिट में कई कंपनियों ने अपने AI परियोजनाओं और निवेश योजनाओं को प्रस्तुत किया, जिससे यह स्पष्ट हो गया कि भारत AI के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

RELATED LATEST NEWS