Download Our App

Follow us

Home » भारत » जम्मू-कश्मीर में सेना पर आतंकी हमला: उत्तराखंड के दो भाइयों सहित 5 जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर में सेना पर आतंकी हमला: उत्तराखंड के दो भाइयों सहित 5 जवान शहीद


कठुआ में घात लगाकर हमला, भारतीय सेना को हुआ भारी नुकसान
बीते दिनों जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में आतंकियों ने सेना की गाड़ी पर घात लगाकर हमला किया। इस हमले में भारतीय सेना के 5 जवान शहीद हो गए और कई जवान घायल हो गए। इस हादसे में जिन 5 सैनिकों की मौत हुई, वे सभी उत्तराखंड राज्य के निवासी थे। उत्तराखंड राज्य इस शहादत पर गर्व कर रहा है, जबकि शहीद जवानों के परिवारों में शोक का माहौल है।

डागर गांव के दो बेटों की शहादत
उत्तराखंड के टिहरी जिले के डागर गांव का एक परिवार इस त्रासदी का सबसे बड़ा भुक्तभोगी बना है। इस परिवार के दो बेटे दो महीने के अंतराल में देश के लिए शहीद हो गए हैं। परिवार के एक बेटे, आदर्श नेगी, जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आतंकियों के हमले में शहीद हुए। वहीं, आदर्श के चचेरे भाई मेजर प्रणय नेगी अप्रैल में लेह में बीमारी से लड़ते हुए शहीद हो गए थे। इन दो बेटों की शहादत ने परिवार पर दुख का पहाड़ तोड़ दिया है।

आदर्श नेगी की शहादत और जीवन
आदर्श नेगी 2018 में गढ़वाल राइफल्स में भर्ती हुए थे और उनकी सेवा देश के प्रति समर्पित थी। आदर्श के पिता किसान थे और परिवार एक साधारण जीवन जीता था। हाल ही में, आदर्श के माता-पिता उसकी शादी की योजना बना रहे थे। लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था। कठुआ में आदर्श की शहादत से पहले ही परिवार एक अन्य बेटे की शहादत के दुःख से जूझ रहा था, और अब यह दूसरा आघात परिवार के लिए असहनीय हो गया है।

राज्य के सीएम पुष्कर धामी की श्रद्धांजलि
मंगलवार की शाम को शहीद जवानों के पार्थिव शरीर सैन्य विमान से देहरादून हवाई अड्डे पर पहुंचे। इस अवसर पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने शहीदों के परिजनों से मिलकर उन्हें सांत्वना दी और कहा कि राष्ट्र की रक्षा करते हुए वीरगति को प्राप्त करने वाले हमारे अमर शहीदों को सभी देशवासी सदैव अपनी स्मृतियों में जीवंत रखेंगे। मुख्यमंत्री धामी ने कहा, “आप सैन्यभूमि उत्तराखंड के गौरव हैं और हम सभी प्रदेशवासियों को आप पर गर्व है।”

सैनिकों के बलिदान पर देश की संवेदनाएँ
शहीद जवानों की शहादत पर पूरे देश में संवेदनाएँ व्यक्त की जा रही हैं। प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी शहीदों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएँ व्यक्त की हैं। इस हमले ने फिर से यह स्पष्ट कर दिया है कि देश की रक्षा में हमारे जवान किस प्रकार के खतरों का सामना करते हैं और उनके बलिदान का मूल्य हम सभी को समझना चाहिए।

RELATED LATEST NEWS