Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » आतंकियों ने डोडा में किया हमला, 6 जवान घायल

आतंकियों ने डोडा में किया हमला, 6 जवान घायल

आतंकियों ने डोडा में किया हमला, 6 जवान घायल

जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले के चतरगला इलाके से आतंकवादी हमले की गंभीर खबर सामने आ रही है।

आतंकियों ने देर रात राष्ट्रीय राइफल्स और पुलिस की एक संयुक्त चौकी पर अचानक गोलीबारी कर दी, जिसके बाद वहां तैनात सुरक्षाबलों ने भी जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। इस हमले के कारण 6 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हैं और इस समय भी मुठभेड़ जारी है।

मुठभेड़ का घटनास्थल

चतरगला इलाका, जो भद्रवाह-पठानकोट राजमार्ग पर 12,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है, देर रात हुई गोलीबारी का केंद्र बना। 4 राष्ट्रीय राइफल्स और पुलिस की संयुक्त चौकी पर आतंकियों द्वारा अचानक गोलीबारी शुरू करने पर सुरक्षाबलों ने भी तुरंत जवाबी कार्रवाई की। इस मुठभेड़ में राष्ट्रीय राइफल्स के 5 जवान और 1 विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) घायल हो गए। घायल जवानों को तुरंत भद्रवाह के उप-जिला अस्पताल (एसडीएच) में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

सुरक्षा बलों की प्रतिक्रिया

एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस आनंद जैन ने बताया कि सुरक्षाबलों की सतर्कता और त्वरित प्रतिक्रिया के चलते आतंकियों की योजनाएं सफल नहीं हो पाई हैं। उन्होंने बताया कि अभी भी सुरक्षाबलों द्वारा इलाके में तलाशी अभियान जारी है और सभी अधिकारी हाई अलर्ट पर हैं। घटना के बारे में और अधिक जानकारी का इंतजार है, लेकिन अभी तक मिली जानकारी के आधार पर सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और आतंकियों की तलाश में जुटे हैं।

कठुआ में आतंकवादी ढेर

इस बीच, कठुआ जिले में भी सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया है। बीती शाम को इंटरनेशनल बॉर्डर (आईबी) के पास एक गांव पर हमला करने वाले आतंकियों की तलाश के दौरान एक संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी को मार गिराया गया है। कठुआ में इस अभियान के दौरान एक आम नागरिक घायल हो गया था, जिसके बाद इलाके में सुरक्षा बलों ने कड़ी कार्रवाई की और एक आतंकी को मार गिराया।

श्रद्धालुओं की बस पर हमला

रविवार को आतंकियों ने श्रद्धालुओं से भरी एक बस पर हमला कर दिया था, जो शिव खोड़ी मंदिर से कटरा जा रही थी। पोनी इलाके में तेरयाथ गांव के पास आतंकियों ने बस पर गोलीबारी की, जिसके बाद बस खाई में जा गिरी। इस दुखद घटना में 9 लोगों की मौत हो गई थी और 41 लोग घायल हो गए थे। इस हमले ने भी सुरक्षा बलों को सतर्क कर दिया है और अब पूरे इलाके में तलाशी अभियान जारी है।

अफवाहों पर पुलिस की प्रतिक्रिया

डोडा और कठुआ में हुए इन आतंकवादी हमलों के बाद, सोशल मीडिया पर फर्जी खबरें फैलने लगीं। एडीजीपी जम्मू ने एक ट्वीट के माध्यम से इन खबरों का खंडन किया और जनता से अनुरोध किया कि वे ऐसी झूठी खबरों पर विश्वास न करें और न ही उन्हें फैलाएं। उन्होंने स्पष्ट किया कि कुछ रिपोर्टों में दावा किया गया था कि एक निश्चित स्थान से तीन नागरिकों के शव बरामद किए गए हैं और आतंकवादियों ने कुछ ग्रामीणों को बंधक बना लिया है, लेकिन ये सभी खबरें निराधार हैं। उन्होंने जनता को शांत रहने और अफवाहों से बचने की सलाह दी, ताकि जम्मू शहर में कानून-व्यवस्था की समस्या न पैदा हो।

सुरक्षा व्यवस्था की चुनौतियां

डोडा और कठुआ जैसे संवेदनशील क्षेत्रों में बढ़ती हुई उग्रवादी गतिविधियों ने सुरक्षा बलों के सामने नई चुनौतियां खड़ी कर दी हैं। लगातार हो रहे हमलों ने सुरक्षा व्यवस्था की कमी को उजागर किया है और यह साबित किया है कि आतंकवादी किसी भी समय कहीं भी हमला कर सकते हैं। इन घटनाओं के बाद, सुरक्षा बलों ने अपनी सतर्कता और चौकसी बढ़ा दी है, ताकि भविष्य में ऐसे हमलों को रोका जा सके।

सरकार की प्रतिक्रिया

सरकार ने भी इन हमलों की निंदा की है और सुरक्षा बलों को हर संभव सहायता देने का वादा किया है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और किसी भी कीमत पर सुरक्षा में चूक नहीं होने दी जाएगी। सरकार ने घायल जवानों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है और उनके इलाज के लिए हर संभव सहायता का आश्वासन दिया है।

RELATED LATEST NEWS