Download Our App

Follow us

Home » भारत » उत्तर प्रदेश के 3 शहरों की सीमाओं का विस्तार किया जाएगा

उत्तर प्रदेश के 3 शहरों की सीमाओं का विस्तार किया जाएगा

एक अन्य महत्वपूर्ण निर्णय में उत्तर प्रदेश में प्रश्न पत्र लीक करने वालों को आजीवन कारावास देने के प्रस्ताव को भी मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी है।

यूपी के तीन बड़े शहरों की सीमाएं-वाराणसी (तस्वीर में) गोरखपुर और प्रयागराज का विस्तार किया जाएगा

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य के तीन बड़े शहरों-वाराणसी, गोरखपुर और प्रयागराज की सीमाओं का विस्तार करने का फैसला किया है।

एक सरकारी प्रवक्ता के अनुसार, इन शहरों के विकास प्राधिकरणों में कई गाँव शामिल किए जाएंगे।

एक अन्य महत्वपूर्ण निर्णय में उत्तर प्रदेश में प्रश्न पत्र लीक करने वालों को आजीवन कारावास देने के प्रस्ताव को भी मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी है।

इसके तहत पेपर लीक करने के दोषी पाए जाने पर 1 करोड़ रुपये तक का जुर्माना लगाया जाएगा। इसके लिए प्रस्तावित कानून के अध्यादेश को योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार ने मंजूरी दे दी है।

उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल ने पर्यटन विभाग को शाकुंभरी देवी मंदिर के पास मुफ्त भूमि आवंटित करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है।

इसके साथ ही अमेठी, बुलंदशहर, बाराबंकी और सीतापुर में राही टूरिस्ट हाउस को लीज पर देने का प्रस्ताव भी पारित किया गया है।

कैबिनेट ने लखनऊ, प्रयागराज और कपिलवस्तू में पीपीपी मॉडल पर हेलीपैड बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

पीपीपी मॉडल पर प्राचीन विरासत (बरसाना जल महल मथुरा, शुक्ल तालाब कानपुर) के पुनः उपयोग का प्रस्ताव भी पारित किया गया है।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने गोरखपुर में परमहंस योगानंद स्थल को पर्यटन स्थल बनाने के लिए जमीन देने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

अयोध्या में टाटा समूह सीएसआर फंड से लगभग 750 करोड़ रुपये की लागत से एक मंदिर संग्रहालय का निर्माण करेगा और पर्यटन विभाग 90 वर्षों के लिए पट्टे पर मुफ्त में जमीन देगा।

इन दोनों प्रस्तावों को कैबिनेट ने भी पारित कर दिया है।

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

गैर-कृषि क्षेत्र में भारतीय अर्थव्यवस्था को सालाना 78 लाख नौकरियां पैदा करने की जरूरत- आर्थिक सर्वेक्षण

नई दिल्ली: भारत का कार्यबल (workforce) लगभग 56.5 करोड़ है, जिसमें 45 प्रतिशत से अधिक कृषि में, 11.4 प्रतिशत विनिर्माण

Live Cricket