Download Our App

Follow us

Home » अपराध » आईपीएल मैच का टिकट दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले तीन आरोपी हाथरस से गिरफ्तार

आईपीएल मैच का टिकट दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले तीन आरोपी हाथरस से गिरफ्तार

हाथरस कोतवाली सदर पुलिस व स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए सोशल मीडिया ग्रुप इंस्टाग्राम पर आईपीएल टी-20 मैच का टिकट दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी कर लोगों से रुपये ठगने वाले तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने मोबाइल फोन, क्यूआर कोर्ड व लेन-देन का विवरण बरामद किया है। तीन आरोपी फरार हैं।

कोतवाली हाथरस गेट क्षेत्र के मोहल्ला रमनपुर निवासी ऋषभ उपाध्याय पुत्र राजेंद्र प्रसाद उपाध्याय ने 19 अप्रैल को कोतवाली सदर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उन्होंने कहा था कि वह नवीपुर चौराहा स्थित उज्जीवन बैंक में मनी मित्र के रूप में काम करते हैं। चार अप्रैल को उनके पूर्व से परिचित शरद वार्ष्णेय ने उनके खाते से किसी को 50000 रुपये भिजवा दिए और उनको यह रुपये नकद दे दिए। इसके बाद उनके अलग-अलग दिन में 47153 रुपये कट गए।

20 अप्रैल को कोतवाली सदर पुलिस व स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने अपने नाम आकाश जैन पुत्र राजेश जैन निवासी गली गंगाधर मुरसान गेट थाना कोतवाली नगर, गौरव शर्मा पुत्र प्रमोद कुमार शर्मा निवासी विजय नगर चौराहा मुरसान गेट थाना कोतवाली नगर व शरद वार्ष्णेय पुत्र हरेंद्र वार्ष्णेय निवासी जलेसर रोड कस्बा व थाना सादाबाद बताए हैं। आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने चार मोबाइल फोन, क्यूआर कोड व फोन पे के लेनदेन के विवरण के स्क्रीनशॉट बरामद किए हैं।

इंस्टग्राम पर लिंक बनाकर देते थे ठगी को अंजाम

गिरफ्तार आरोपी आकाश जैन ने पूछताछ में बताया कि वह और उसके साथी शिखर वार्ष्णेय व धीरज कुमार सोशल मीडिया प्लेटफार्म इंस्टाग्राम पर आईपीएल टिकट के नाम से लिंक तैयार कर भिन्न-भिन्न ग्रुपों में डाल देते हैं। वर्तमान में चल रहे आईपीएल टी-20 मैचों को देखने वाले व्यक्ति लिंक को देखकर व्हाट्सएप कॉल के माध्यम से उनसे संपर्क करते हैं। हम लोग उनको ब्लैक में टिकट उपलब्ध कराने के नाम पर अपने अन्य साथियों गौरव शर्मा, शरद वार्ष्णेय और हनी वार्ष्णेय द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले फोन-पे के क्यूआर कोड लोगों को भेज देते हैं। क्यूआर कोड पर भुगतान प्राप्त होने पर तुरंत रुपये निकाल लेते हैं और लोगों की व्हाट्स एप कॉल उठाना बंद कर देते थे।

तीन फरार आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस

तीनों ही आरोपियों ने अपने फरार तीन साथियों के नाम हनी वार्ष्णेय पुत्र पुत्र रमेशचंद्र वार्ष्णेय निवासी चक्की बाजार पीपल गली थाना कोतवाली नगर, शिखर वार्ष्णेय पुत्र प्रेमचंद्र वार्ष्णेय निवासी सब्जी मंडी नयागंज थाना कोतवाली नगर हाथरस व धीरज कुमार पुत्र नामालूम निवासी खोंड़ा कमिश्नरेट गाजियाबाद बताए हैं। वांछित आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें दबिश दे रही हैं।

 

Shree Om Singh
Author: Shree Om Singh

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS