Download Our App

Follow us

Home » भारत » मध्य प्रदेश में CAA के तहत तीन लोगों को मिली भारतीय नागरिकता

मध्य प्रदेश में CAA के तहत तीन लोगों को मिली भारतीय नागरिकता

नागरिकता संशोधन अधिनियम का लाभ


भारत में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) लागू हो चुका है, जिसके तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान, और बांग्लादेश से प्रताड़ित होकर भारत में आने वाले अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसी क्रम में मध्य प्रदेश में पहले तीन लोगों को नागरिकता प्रदान की गई है। राज्य के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने खुद इन तीन लोगों को नागरिकता प्रमाण पत्र दिए।

किन्हें मिली नागरिकता?
मुख्यमंत्री मोहन यादव ने CAA के तहत पाकिस्तान और बांग्लादेश के तीन लोगों – राखी दास, समीर मेलवानी और संजना मेलवानी – को नागरिकता प्रमाण पत्र सौंपे हैं। समीर और संजना साल 2012 से ही भारत में रह रहे थे, लेकिन उन्हें अब तक भारतीय नागरिकता नहीं मिली थी। अब, प्रमाण पत्र मिलने के बाद, ये सभी लोग आधिकारिक रूप से भारतीय नागरिक बन गए हैं।

पीएम मोदी ने दूर की कठिनाई: मोहन यादव
प्रमाण पत्र देने के दौरान मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कठिनाई को दूर कर एक ऐसा कदम उठाया है जो अखंड भारत की याद दिलाता है। मोहन यादव ने कहा कि 1947 में तत्कालीन सरकार ने भरोसा दिलाया था, जिसके कारण हमारे हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, ईसाई, और पारसी भाई पाकिस्तान, बांग्लादेश, और अफगानिस्तान में रह गए और उन्हें बहुत कष्ट झेलना पड़ा। अब, मोदी सरकार ने CAA के माध्यम से इन लोगों को सुरक्षा की छतरी प्रदान करने का काम किया है।

और लोगों का भी स्वागत
सीएम मोहन यादव ने कहा कि इन लोगों को हमारे यहां प्रतिबंध लगाकर विदेशी माना गया, जो कि विदेशी नहीं हैं। वे सिर्फ तत्कालीन सरकारों के भरोसे से रह गए थे जबकि वे अखंड भारत का हिस्सा रहे हैं। अब, CAA के माध्यम से मोदी सरकार ने इन लोगों को सुरक्षा की छतरी देने का काम किया है। सीएम मोहन यादव ने कहा कि इन लोगों को अपने धर्म को बचाने के लिए भारत आना पड़ा और भविष्य की दो नई पीढ़ियां हमारे देश का हिस्सा बन रही हैं। यह खुशी की बात है। बांग्लादेश की जो महिला नागरिकता पा रही हैं उनका भी स्वागत है। हम ऐसे और लोगों का स्वागत करते हैं।

RELATED LATEST NEWS