Download Our App

Follow us

Home » शिक्षा » UPSC अपनाएगा चेहरे की पहचान और AI आधारित सीसीटीवी निगरानी

UPSC अपनाएगा चेहरे की पहचान और AI आधारित सीसीटीवी निगरानी

अगर आप सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहे हैं, तो यह खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है। NEET और NET विवाद के बीच, संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने परीक्षाओं के दौरान धोखाधड़ी और फ्रॉड को रोकने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। UPSC ने घोषणा की है कि वह चेहरा पहचान तकनीक (फेशियल रिकॉग्निशन) और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) आधारित सीसीटीवी निगरानी प्रणाली का उपयोग करेगा।

निकाली गई बिड
संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने हाल ही में इसके लिए बोली लगाने वालों के लिए बिड निकाली है। इसका उद्देश्य परीक्षा प्रक्रिया को अधिक सुरक्षित और पारदर्शी बनाना है। UPSC ने दो तकनीकी समाधान विकसित करने के लिए बिड निकाली है:

  1. आधार कार्ड आधारित फिंगरप्रिंट ऑथेंटिकेशन, अभ्यर्थियों की चेहरे की पहचान और ई-एडमिट कार्ड की क्यूआर कोड स्कैनिंग
  2. एआई आधारित सीसीटीवी सर्विलांस सर्विस

आयोग की भूमिका
UPSC एक संवैधानिक निकाय है जो देश में 14 प्रमुख परीक्षाएं आयोजित करता है, जिसमें भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय विदेश सेवा (IFS) और भारतीय पुलिस सेवा (IPS) के अधिकारियों का चयन करने के लिए सिविल सेवा परीक्षा भी शामिल है। इसके अलावा, UPSC केंद्र सरकार के ग्रुप ‘A’ और ग्रुप ‘B’ पदों पर भर्ती के लिए कई परीक्षाएं और इंटरव्यू भी आयोजित करता है।

परीक्षा सुरक्षा को बढ़ाना
UPSC का यह कदम परीक्षा प्रक्रिया को मजबूत बनाने और अभ्यर्थियों द्वारा कदाचार की संभावना को समाप्त करने के लिए है। आयोग ने स्पष्ट किया है कि यह डेटा केवल परीक्षा के दौरान उम्मीदवारों के आधार आधारित फिंगरप्रिंट ऑथेंटिकेशन और चेहरे की पहचान के लिए ही उपयोग किया जाएगा। यह सुनिश्चित करेगा कि परीक्षा में बैठने वाला उम्मीदवार वही है जिसने पंजीकरण कराया था।

पहचान की प्रक्रिया
चेहरे की पहचान के लिए UPSC दो तस्वीरों का मिलान करेगा: एक तस्वीर जो ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के दौरान दी गई होगी और दूसरी परीक्षा के दिन ली जाएगी। इस तकनीक का उपयोग करके आयोग यह सुनिश्चित करेगा कि परीक्षा में बैठने वाला व्यक्ति वही है जिसने पंजीकरण किया था।

एआई आधारित सीसीटीवी निगरानी
फेशियल रिकॉग्निशन के अलावा, UPSC देशभर में विभिन्न केंद्रों पर आयोजित परीक्षाओं के दौरान विभिन्न गतिविधियों पर नजर रखने के लिए एआई आधारित सीसीटीवी निगरानी प्रणाली लागू करेगा। इसमें रिकॉर्डिंग और लाइव टेलीकास्ट सिस्टम शामिल होंगे, जो वास्तविक समय में निगरानी की सुविधा प्रदान करेंगे और परीक्षा के दौरान अनुचित गतिविधियों को रोकेंगे।

RELATED LATEST NEWS