Download Our App

Follow us

Home » भारत » विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के सदस्यों ने ओवैसी की जय फिलिस्तीन टिप्पणी के खिलाफ प्रदर्शन किया

विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के सदस्यों ने ओवैसी की जय फिलिस्तीन टिप्पणी के खिलाफ प्रदर्शन किया

नई दिल्ली: विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के सदस्यों ने संसद में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी के ‘जय फिलिस्तीन’ नारे को लेकर उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया.

प्रदर्शनकारी हाथों में तख्तियां और पोस्टर लिए नजर आए, जिन पर लिखा था, ‘संसद की गरिमा का अपमान करने वाले सांसद की जरूरत नहीं है.’

जय भीम, जय मीम, जय तेलंगाना, जय फिलिस्तीन- ओवैसी

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को लोकसभा सदस्य के रूप में अपना शपथ ग्रहण “जय फिलिस्तीन” शब्दों के साथ समाप्त किया. लोकसभा के 18वें सत्र में सांसद के रूप में शपथ लेते समय, ओवैसी ने “जय भीम, जय मीम, जय तेलंगाना, जय फिलिस्तीन” शब्दों के साथ अपनी शपथ समाप्त की.

अपने आधिकारिक एक्स हैंडल पर ओवेसी ने पोस्ट किया, “पांचवीं बार लोकसभा के सदस्य के रूप में शपथ ली. इंशाल्लाह, मैं भारत के हाशिए पर रहने वाले लोगों के मुद्दों को ईमानदारी से उठाना जारी रखूंगा.”

यह कैसे खिलाफ है, संविधान में प्रावधान दिखाएं- ओवैसी

एएनआई से बात करते हुए, ओवैसी ने कहा, “हर कोई बहुत सारी बातें कह रहा है. मैंने सिर्फ “जय भीम, जय मीम, जय तेलंगाना, जय फिलिस्तीन” कहा, यह कैसे खिलाफ है, संविधान में प्रावधान दिखाएं?”

‘जय फ़िलिस्तीन’ कहने का कारण पूछे जाने पर, ओवैसी ने कहा, “वहां की आवाम महरूम है (वहां के लोग बेसहारा हैं). महात्मा गांधी ने फ़िलिस्तीन के बारे में बहुत सारी बातें कही हैं और कोई भी जाकर पढ़ सकता है.”

किशन रेड्डी और किरण रिजिजू ने ओवेसी की आलोचना की

ओवेसी के ‘जय फिलिस्तीन’ शब्द के साथ लोकसभा सदस्य के रूप में शपथ लेने के बाद केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी और किरण रिजिजू ने ओवेसी की आलोचना की और उनके बयान की निंदा की.

केंद्रीय कोयला एवं खनन मंत्री रेड्डी ने एआईएमआईएम प्रमुख पर निशाना साधते हुए कहा, “आज संसद में एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी द्वारा दिया गया ‘जय फिलिस्तीन’ का नारा गलत है. यह सदन के नियमों के खिलाफ है. वह भारत में रहते हुए ‘भारत माता की जय’ नहीं कहते.”

तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ‘लोगों को समझना चाहिए कि वह देश में रहकर असंवैधानिक काम करते हैं.’

उधर, संसदीय कार्य मंत्री किरेन रिजिजू ने इस बात पर जोर दिया कि शपथ लेते समय दूसरे देश की प्रशंसा का नारा लगाना अनुचित है. उन्होंने कहा, “फिलिस्तीन या किसी अन्य देश से हमारी कोई दुश्मनी नहीं है. मुद्दा यह है कि शपथ लेते समय क्या किसी सदस्य के लिए दूसरे देश की प्रशंसा में नारा लगाना उचित है.”

रिजिजू ने आगे कहा, “हमें किसी अन्य देश से कोई समस्या नहीं है लेकिन अगर यह उचित है तो हमें नियमों की जांच करनी होगी. कुछ सदस्य मेरे पास आए हैं और शपथ के अंत में फिलिस्तीन के नारे लगाने की शिकायत की है.”

 

ये भी पढ़ें-  पीएम मोदी ने ‘एक पेड़ मां के नाम’ अभियान के तहत लोगों से मां के सम्मान में पेड़ लगाने की अपील की

RELATED LATEST NEWS