Download Our App

Follow us

Home » Uncategorized » चुनावों में आप और सपा के साथ कांग्रेस का चुनावी गणित क्या ?

चुनावों में आप और सपा के साथ कांग्रेस का चुनावी गणित क्या ?

आगामी चुनावों में आप और सपा के साथ कांग्रेस का चुनावी गणित बैठता दिख रहा है। धीरे-धीरे कांग्रेस पार्टी सभी राज्यों की प्रमुख पार्टियों के साथ गठबंधन कर सीट शेयरिंग का समझौता फाइनल कर रही है। 

दिल्ली में आम आदमी पार्टी 4 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, कांग्रेस के खाते में चांदनी चौक समेत 3 सीटें गई

दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) ने आगामी चुनावों के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा की है, जहां पार्टी चार सीटों पर प्रतिस्थापित होगी। इसके विपरीत, कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा करते हुए चार सीटों में से तीन को आम आदमी पार्टी को छोड़ दिया है।

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता ने बताया कि पार्टी ने चार सीटों पर यथासंभव उम्मीदवारों की घोषणा की है, जिनमें वे अपने विजयी योजना को पेश करेंगे। इसके अलावा, कांग्रेस के खाते में चांदनी चौक समेत तीन सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की गई है।

लखनऊ में सपा-कांग्रेस गठबंधन का ऐलान, सीट बंटवारे पर सहमति प्राप्त

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में आगामी चुनावों के लिए सपा-कांग्रेस गठबंधन ने अपना ऐलान किया था। गठबंधन के प्रमुखों ने बताया कि उन्होंने आप-कांग्रेस के बीच सीट बंटवारे पर लंबी चर्चा की और समझौते पर पहुँचा। इस गठबंधन के अंतर्गत सीट शेयरिंग का समझौता फाइनल किया था।

हरियाणा और गुजरात में भी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की चुनावी सफलता की चुनौती

हरियाणा: हरियाणा में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने चुनावी लड़ाई की घोषणा की है। कांग्रेस ने 9 सीटों पर अपने उम्मीदवारों को उतारने का ऐलान किया है, जबकि आम आदमी पार्टी ने एक सीट पर अपना दावा किया है। यह चुनावी राजनीतिक दायरे में नया मोड़ हो सकता है।

गुजरात: गुजरात में भी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने चुनावी तैयारियों की शुरुआत की है। आम आदमी पार्टी ने दो सीटों पर अपने उम्मीदवारों को उतारने का एलान किया है, जबकि कांग्रेस ने 24 सीटों पर अपना दावा किया है। इससे पहले गुजरात में केंद्रीय चुनावों में भाजपा ने कायम रहकर अपनी सत्ता को बनाए रखा था।

यहां यह जानकारी भी है कि गुजरात में लोकसभा की कुल 26, हरियाणा में 10, दिल्ली में 7, गोवा में 2 और चंडीगढ़ में 1 सीटें हैं। चुनावी माहौल में इस तरह की घोषणाएं चुनावी दायरों में एक नई जोरदार दावा और प्रतिस्पर्धा को बढ़ा सकती है।

Aarambh News
Author: Aarambh News

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket