Download Our App

Follow us

Home » खेल » भारत का अगला टी-20 कप्तान कौन होगा: पंड्या की दावेदारी मजबूत; पंत और बुमराह भी इस रेस में

भारत का अगला टी-20 कप्तान कौन होगा: पंड्या की दावेदारी मजबूत; पंत और बुमराह भी इस रेस में

29 जून 2024 का दिन भारतीय क्रिकेट के इतिहास में विशेष रूप से यादगार बन गया जब भारत ने दूसरी बार टी-20 वर्ल्ड कप जीता। दरअसल इस ऐतिहासिक जीत के बाद टीम इंडिया के तीन दिग्गज खिलाड़ियों, विराट कोहली, रवींद्र जडेजा और कप्तान रोहित शर्मा ने टी-20 इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

लेकिन अब सवाल यह उठता है कि भारत का अगला टी-20 कप्तान कौन होगा। क्या यह भूमिका फाइनल में निर्णायक कैच पकड़ने वाले सूर्यकुमार यादव को मिलेगी, खतरनाक बल्लेबाजों क्लासन और मिलर को पवेलियन भेजने वाले हार्दिक पंड्या को सौंपी जाएगी, प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट जसप्रीत बुमराह को मिलेगी, या फिर मिरेकल मैन ऋषभ पंत को जो कार दुर्घटना से उभरकर वर्ल्ड चैंपियन बने।

1 . हार्दिक पंड्या को माना जा रहा सबसे बड़ा दावेदार:

आपको बता दें कि हार्दिक पंड्या इस दौड़ में सबसे आगे हैं। हार्दिक के पास टी-20 इंटरनेशनल में 100 मैचों का बड़ा अनुभव है, जो किसी अन्य दावेदार से ज्यादा मजबूती उन्हें दे रहा है। वहीं पंड्या ने 16 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में भारत की कप्तानी भी की है, जिनमें से टीम ने 10 मुकाबले जीते हैं। उनके नेतृत्व में टीम ने कई महत्वपूर्ण जीत दर्ज की हैं, जिससे वह कप्तानी के लिए एक मजबूत दावेदार बनते हैं। पंड्या की बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में उत्कृष्टता ने उन्हें भारतीय टीम के लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी बना दिया है।

2 . ऋषभ पंत पर खेला जा सकता है बड़ा दाव:

दरअसल पंत का जीतने का जबर्दस्त जज्बा उन्हें कप्तान बनने की दौड़ में एक मजबूत दावेदार बना रहा है। लगभग 18 महीने पहले, पंत एक गंभीर कार दुर्घटना में घायल हो गए थे। तब किसी को उम्मीद नहीं थी कि वे भारत की टी-20 वर्ल्ड कप विनिंग टीम का हिस्सा हो सकते हैं। लेकिन पंत ने न केवल अपने खेल से बल्कि अपनी नेतृत्व क्षमता से भी प्रभावित किया है। उनकी आक्रामकता और रणनीतिक सोच ने उन्हें एक शानदार खिलाडी के रूप में उभरने का मौका दिया है।

3 . सूर्यकुमार यादव भी इस रेस में है शामिल:

दरअसल सूर्यकुमार यादव अपने शानदार प्रदर्शन के चलते टीम इंडिया के नए कप्तान बनने की दावेदारी पेश कर रहे हैं। आपको जानकारी दे दें कि 68 मैचों में 167.74 के स्ट्राइक रेट से सूर्य ने 2340 रन बनाए हैं। सूर्य ने अपनी कप्तानी में एक सेंचुरी भी बनाई हैं। सूर्या की कप्तानी में 7 में से 5 मैच टीम ने जीते हैं, और वे 164.83 की स्ट्राइक रेट से 300 रन बना चुके हैं। उनकी बल्लेबाजी की धाक और मैदान पर उनकी उपस्थिति उन्हें कप्तानी के लिए एक मजबूत उम्मीदवार बना रही हैं।

4 . क्या जसप्रीत बुमराह को मिल सकती है यह जिम्मेदारी?

दरअसल जसप्रीत बुमराह भारतीय टीम के सबसे मजबूत खिलाडी में से एक हैं। उन्होंने 70 मैचों में 89 विकेट लिए हैं। हालांकि, उन्होंने केवल 2 मुकाबलों में ही भारतीय टीम की कप्तानी की है और दोनों ही मुकाबले जीते हैं। बुमराह ने अपनी कप्तानी में खेले 2 मुकाबलों में 4 विकेट लिए हैं। उनकी गेंदबाजी की धार और संकट के समय में उनके प्रदर्शन ने उन्हें टीम के लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी बना दिया है।

इन चारों खिलाड़ियों में से कौन भारत का अगला टी-20 कप्तान बनेगा, यह देखना दिलचस्प होगा। हार्दिक पंड्या का अनुभव और नेतृत्व क्षमता उन्हें एक मजबूत दावेदार बनाती है, जबकि पंत, सूर्या और बुमराह भी अपनी-अपनी जगह पर उत्कृष्ट हैं। भारतीय क्रिकेट के प्रशंसकों को बेसब्री से इंतजार रहेगा कि टीम इंडिया का अगला कप्तान कौन होगा और वह टीम को किस दिशा में ले जाएगा।

कमजोर पॉइंट्स

सूर्यकुमार के पास कप्तानी का उतना अनुभव नहीं है, जितना पंड्या और पंत के पास है। उन्होंने 7 टी-20 इंटरनेशनल और एक IPL मैच में कप्तानी की है। इस मामले में वे मात खा सकते हैं।
सूर्यकुमार का ऐज फैक्टर, उनके फेवर में नहीं है। वे 33 साल के हो चुके हैं, ऐसे में बोर्ड ऐसे खिलाड़ी को कप्तान बनाना चाहेगा, जो कुछ साल टीम की कमान संभाल सके।

जसप्रीत बुमराह

जसप्रीत बुमराह, भारतीय टीम में तुरुप का इक्का। 70 मैचों में 89 विकेट ले चुके हैं। इनके नाम कई रिकॉर्ड हैं, लेकिन सिर्फ 2 मुकाबलों में ही भारतीय टीम की कप्तानी की है और दोनों ही मुकाबले जीते हैं। बुमराह अपनी कप्तानी में खेले 2 मुकाबलों में 4 विकेट ही ले सके हैं।

कमजोर पॉइंट्स

बुमराह कई अहम मौकों पर चोटिल हो जाते हैं। ऐसे में फिटनेस उनके कप्तान बनने की राह का रोड़ा बन सकती है।
अब तक कोई भी गेंदबाज भारतीय टी-20 टीम का रेगुलर कप्तान नहीं बना है। अधिकतर बल्लेबाजों को ही कप्तानी सौंपी गई है।
अब बात अन्य फॉर्मेट की…

WTC 2023-25 तक कप्तानी कर सकते हैं रोहित

आने वाले एक-दो साल में भारतीय बोर्ड को टीम के लिए टेस्ट और वनडे कप्तान की तलाश भी करनी होगी, क्योंकि टी-20 फॉर्मेट से संन्यास लेने के बाद रोहित WTC 2023-25 सीजन के फाइनल तक भारतीय टीम की कप्तानी कर चुके हैं। उनके 2027 वनडे वर्ल्ड कप में कप्तानी करने पर संदेह है, क्योंकि तब वे 40 साल के होंगे।

फिलहाल, रोहित अगले साल होने जा रही चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम की कमान संभालते नजर आएंगे। पूरी तरह संभव है कि 37 साल के रोहित शर्मा का बतौर भारतीय कप्तान और प्लेयर यह आखिरी ICC टूर्नामेंट हो।

 

यह भी पढ़ें-  अस्पताल में भर्ती हैं शत्रुघ्न सिन्हा: शादी के बाद पसलियों में लगी चोट, मिलने पहुंचे सोनाक्षी-जहीर

 

RELATED LATEST NEWS